UAE में 460 से अधिक प्रवासी छात्रों की स्कूल में नो एंट्री, यह है वजह

1 min


0

संयुक्त अरब अमीरात में 460 से अधिक प्रवासी छात्र स्कूलों को नहीं ज्वाइन कर सके, इसकी वजह यह रहा कि उनके अभिभावक स्कूल के फीस का भुगतान करने में असमर्थ रहे. इस मामले में रस अल खैमाह (आरएके) एजुकेशन जोन के निदेशक सुमाया हरब अल सुवादी ने कहा कि विभिन्न राष्ट्रीयताओं के 460 से अधिक प्रवासी छात्र अभी भी घर पर हैं और इस अकादमिक वर्ष में स्कूल नहीं जा सकते हैं.

उन्होंने कहा, “उनके परिवार यहां निजी स्कूलों में स्कूल शुल्क का भुगतान करने में वित्तीय रूप से असमर्थ हैं और इसलिए वे कक्षाओं में भाग नहीं ले रहे हैं.” शेख सौद बिन साकर चैरिटेबल एजुकेशनल फाउंडेशन ने इन छात्रों की मदद करने के लिए एक विशेष अभियान लॉन्च किया है और यह देखते हुए कि वे निजी स्कूलों में पंजीकृत हैं. फाउंडेशन ने जरूरतमंद छात्रों की सहायता के लिए Dh450,000 का दान दिया है. यह अभियान ‘जयद वर्ष’ के अंत तक जारी रहेगा ताकि कम आय वाले परिवार निजी स्कूलों में अपने बच्चों को शिक्षित कर सकें।

अल सुवादी ने कहा है कि सरकारी स्कूलों में नामांकित रहने के लिए प्रवासी छात्रों को कुछ विषयों में 85 प्रतिशत स्कोर करने की आवश्यकता है. हालांकि, आरके एजुकेशन जोन ने उन छात्रों की एक सूची का उल्लेख किया है जो शिक्षा मंत्रालय को स्कोर मानदंडों को पूरा करने में नाकाम रहे हैं और अनुरोध किया है कि उन्हें अपने परिवार की वित्तीय स्थितियों पर विचार करने से शर्त से मुक्त किया जाए. दूरस्थ क्षेत्रों में रहने वाले छात्र जहां कोई निजी स्कूल उपलब्ध नहीं है, उन्हें भी स्कोर आवश्यकता से मुक्त किया जाता है.



Like it? Share with your friends!

0
user

0 Comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *