UAE में इस भारतीय जोड़े ने खुद की जिन्दगी खतरे में डालकर बचायी अरबी व्यक्ति की जान, पुलिस ने दिया सम्मान


0

अबू धाबी में यह वीकेंड भारतीय प्रवासी सुफियान शानवा और उसकी पत्नी अलीया के लिए एक अच्छा सप्ताह होता अगर वह एक रोड एक्सीडेंट में शामिल नहीं होते तो, इस सप्ताह केरल के दक्षिण भारतीय राज्य के एक कपल ने अमीरात के अल इन में हुई दुर्घटना में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई.

क्या था मामला ? 

सुफियान ने एक दुर्घटना में घायल एक अरब राष्ट्रीय को बचाने के लिए अपने जीवन को खतरे में डाल दिया ,जिसके बाद अबू धाबी पुलिस ने जोड़े को सम्मानित करके इस मानवीय भाव की सराहना की.
3 मई को, इस भारतीय प्रवासी कपल ने अल ऐन में एक सप्ताहांत रहने की योजना बनाई और अबू धाबी-अल ऐन रोड में करीब 6 बजे के समय पर सूफियान ने गाडी तेजी से चलाना शुरू कर दिया और वह अपने गंतव्य से केवल 26 किमी की दूरी पर थे. दुर्घटना को रोकने के लिए सूफियान ने आपातकालीन ब्रेक लागू कर दिए.”

सामने दिखी दुर्घटनाग्रसित गाड़ी 

सूफियान ने कहा की “मै गाड़ी चला ररह था, हम अल माफ्राक के रास्ते पर थे की तभी हमने देखा की हमारे सामने एक पिक-अप है, जो आगे नहीं बढ़ रहा था, हमने अपनी गाडी पिक अप से थोडा सा दूरी पर खड़ी कर दी और बाहर निकल कर जब हम पिक अप की तरफ बढे तो हमने देखा की यह एक एक्सीडेंट है , जिसमे एक अरबी राष्ट्र का घायल हुआ है. उस पर से खून बह रहा था और वह बेहोश था,बेहोशी में वह कुछ बोल भी नहीं पा रहा था और मेरे प्रश्नों का जवाब भी वह नहीं दे रहा था. उसने कहा की मैंने हैजर्ड लाइट बंद की और मै किसी स्थान पर ट्रांगल साइन ढूंढ रहा था ताकि मै व्यक्ति को भी सुरक्षित ले जा सकूं.”
अलिया ने भी पुलिस को स्थान बताकर फोने कर दिया था. जब कुछ नहीं मिला कोई मदद ही नहीं मिली तो मै फ़ास्ट लेन पर खड़ा हो गया. मुझे यह भी पता था की अगर पिक अप से फ़ास्ट लेन पर दूसरी गाड़ियाँ टकराती तो वह भी दुर्घटनाग्रसित हो जाती. फिर मै पिक अप के सामने फ़ास्ट लेन पर खड़ा हो गया. हाँ मुझे पता था की वह रिस्क है लेकिन किसी की जान बचाना ज्यादा जरुरी था. एक कार तो बस कुछ इंच की दूरी पर थी मुझसे टकराने के लिए. मेरे फ़ास्ट लेन पर खड़े होने पर एक कार आई और उसके ड्राईवर ने मुझसे घटना के बारे में पुछा और वह गाडी पुलिस की थी.

पुलिस से मिली पूछताछ के बाद उन्होंने मुझे और मेरी पत्नी को जाने को कहा. मुझे लगा की यह जांच आगे के लिए  होगी लेकिन फिर दुसरे दिन मुझे फोन आया कि पुलिस हमारे कार्यों का सम्मान करना चाहती है. अधिकारी ने मुझसे पूछा कि मैंने अपने जीवन को क्यों जोखिम में डाला तो मैंने उन्हें जवाब दिया की ” अगर मैंने ऐसा नहीं किया होता तो  और अधिक दुर्घटनाएं होती, मुझे खुशी है कि दुर्घटना में घायल व्यक्ति भी अच्छा है. दुर्घटना स्थल पर पुलिस से प्रतिक्रिया प्रशंसनीय थी, “.
सुफियान मुश्रीफ मॉल में एटिसलाट में एक मेनेजर क के रूप में काम करता है और अलीया मरीना मॉल में एक वित्त और प्रशासन सचिव है.

भारतीय कपल को पुलिस द्वारा सम्मान 

अबू धाबी पुलिस के केंद्रीय परिचालन क्षेत्र यातायात निदेशालय के निदेशक ब्रिगेडियर खलीफा मोहम्मद अल खैली ने बुधवार को जोड़े को सम्मानित किया.
पुलिस ने जोड़े द्वारा दिखाए गए दिमाग की उपस्थिति की सराहना की और तेजी से अभिनय करने और सभी आवश्यक सावधानी बरतने की सराहना की.
ब्रिगेड अल खैली ने सभी निवासियों को यातायात के नियमों से बचने के लिए कहा


Like it? Share with your friends!

0
user

0 Comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *