UAE ने भेजा भारतीय परिवार को गलत डेड बॉडी, टेंशन में परिवार


0

संयुक्त अरब अमीरात में शवों के मिश्रण हो जाने के बाद से एक भारतीय परिवार को गलत डेड बॉडी मिल गयी है. जिसके कारण पूरा परिवार टेंशन में हैं. केरल में रहने वाली भारतीय परिवार इस घटना के बाद और शोकग्रस्त हो गए हैं क्योंकि उन्हें तमिलनाडु के रहने वाले कामची कृष्णन का मृत शरीर भेज दिया गया है. जिनका निधन पिछले हफ्ते अबू धाबी में हो गया था. केरल के परिवार के सदस्य ने यह कहा कि उनके परिवार से जिनका निधन हुआ है उनका नाम निधिन ओथॉयथ कोट्टरॉन है. निधि के परिवार को यह मालूम चला कि शुक्रवार को केरल के कालीकट में एक एयर इंडिया उड़ान पर एक ताबूत आया था. जबकि परिवार एक हफ्ते से शव की प्रतीक्षा कर रहे थे. वे अभी भी जो हुआ उससे सदमे की स्थिति में हैं. दोंनो भारतियों की मृत्यु दो अलग दिन हुई, लेकिन यह नहीं पता चल रहा है कि आखिर दोनों की लाश मिक्स अप कैसे हुई.

निधिन जो कि UAE में साइट सुपरवाइजर के रूप में काम करता था उसकी मृत्यु 5 जुलाई को हुई, जबकि कृष्णन की 7 जुलाई को! दोनों मामलों के लिए मौत के कारण की पुष्टि नहीं हुई है. कृष्णन का शरीर वर्तमान में केरल के वायनाड के सरकारी अस्पताल में रखा हुआ है जो निधिन का जन्म स्थान है.

भारतीय दूतावास के एक अधिकारी जो इस मामले को देख रहे हैं उन्होंने कहा है कि दोनों परिवारों की मदद के लिए जो बन पड़ेगा वो किया जायेगा. उन्होंने कहा,” हमें यकीन नहीं है कि यह दुर्भाग्यपूर्ण घटना कैसे हुई. हमारी पहली प्राथमिकता शव के प्रत्यावर्तन में तेजी लाना है, शव अभी भी शवगृह में है. हमने पहले से ही प्रत्यावर्तन के लिए आवश्यक दस्तावेज जारी किए थे. अब मिश्रण के कारण, हम रिश्तेदारों के साथ निधिन के शरीर को वापस भेजने के लिए दस्तावेजों का डुप्लिकेट सेट जारी करने के लिए समन्वय कर रहे हैं, जो अभी भी शवगृह में रखा गया है. विदेश मंत्रालय के तमिलनाडु शाखा सचिवालय में हमारे अधिकारी कृष्णन के परिवार के सदस्यों से संपर्क करने की कोशिश कर रहे हैं. प्रक्रियाओं को स्थानीय रूप से मंजूरी मिलने के बाद, वे केरल से शव को एकत्र कर सकते हैं.” कहा जा रहा है कि निधिन उनके रिश्तेदारों में से एक और कृष्णन के रिश्तेदार अबू धाबी से शरीर के साथ होंगे. स्थानीय पुलिस से निकासी प्राप्त करने के बाद, वे शरीर को केरल से तमिलनाडु ले जाएंगे.


Like it? Share with your friends!

0
user

0 Comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *