Breaking News

India Post Rakhi Offer

रक्षाबंधन पर डाक विभाग का तोहफा, बिहार की बहनें मात्र 15 रुपये में देश की किसी भी हिस्से में भेज सकतीं हैं राखी

कुछ ही दिनों बाद रक्षाबंधन का पवित्र त्यौहार आने वाला है। इस त्यौहार का इंतजार हर भाई-बहन बेसब्री से करते हैं।  हर बहन यह चाहती है कि उसके भाई के कलाई पर उसके रक्षा के लिए एक रेशम की डोरी बांधी जाय। लेकिन कई बहनों के भाई उनसे दूर होते हैं ऐसे में उन्हें अपने हाथों से उनकी कलाई पर राखी बांधने का मौका नहीं मिल पाता है। इसलिए वह कुरियर या डाक द्वारा उनके पास राखियां भेजा करती है। 
इस बार बिहार में डाक विभाग एक ऐसा ऑफर लेकर आया है जिसके तहत कहीं भी राखी भेजने के लिए मात्र ₹15 का खर्च आएगा। इस बार के रक्षाबंधन को यादगार बनाने के लिए डाक विभाग ने एक योजना बनाई। जिसके तहत कोई भी बहन अपने भाई के पास मात्र ₹15 में राखी भिजवा सकती हैं। इस मामूली खर्च में भी डाक विभाग एक जगह से दूसरे जगह पर राखी पहुंचाने का काम करेगा।
इसके लिए डाक विभाग की तरफ से एक्सप्रेस मेल सर्विस की शुरुआत की जा रही है। जिसके बारे में  वरीय डाक अधीक्षक रंजय कुमार सिंह का कहना है कि पवित्र रक्षाबंधन त्यौहार के लिए शुरू होने वाली है। दो दिनों के अंदर यह सुविधा शुरू कर दी जायेगी। 
बहुत सारी बहनों को अपने भाइयों के पास राखी भेजने में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता था और उन्हें अधिक पैसे भी खर्च करने पड़ते थे। हालांकि डाक विभाग के एक्सप्रेस मेल सर्विस की शुरुआत होने के बाद बहनें अपने भाइयों के पास स्नेह, आशीर्वाद और प्यार के साथ राखी पहुंचा सकेगी। 
डाक विभाग ने राखी के लिए स्पेशल प्लास्टिक लेमिनेटेड लिफाफा तैयार किया है। इस लिफाफा की बिक्री भी शुरू कर दी गई है। जिसकी इस लिफाफा में राखी रखने से फायदा यह होगा कि वह अब खराब नहीं होगी यानी रास्ते में लंबी या नहीं ₹15 खर्च करके देश की बहन
राखियों को सेफ्टी के साथ कहीं भी पहुंचाने के लिए तैयार किए गए स्पेशल लैमिनेटेड लिफाफे की कीमत ₹10 रूपये है जिसे आप किसी भी डाकघर से खरीद सकते हैं। इस लिफाफे पर आप ₹5 का टिकट लगाकर 20 ग्राम तक की राखी को देश के किसी हिस्से में भारतीय डाक की सहायता से भेज सकते हैं। इस तरह से आप मात्र ₹15 खर्च करके अपने भाइयों के पास आसानी से राखियां भिजवा सकतीं हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: