दिल्ली के बस में शाहनवाज़ को मिली थी रेणु, पहले सीट दिया, फिर हाथ थम छोड़ते थे स्कूल, फिर बना लिया पत्नी

1 min


-1

शाहनवाज हुसैन ने प्रेम में कभी हार नहीं मानी

शाहनवाज हुसैन को कौन नहीं जानता है। भागलपुर से सांसद रह चुके शाहनवाज हुसैन राज्य मंत्री भी रह चुके हैं। तब अटल बिहारी वाजपेई की सरकार थी। हालांकि 2014 लोकसभा चुनाव में उन्हें हार का सामना करना पड़ा था, लेकिन अगर प्रेम की बात की जाए तो शाहनवाज हुसैन ने प्रेम में कभी हार नहीं मानी।

 

आखिर में उन्होंने उनसे शादी भी की

बता दें कि जब वो ग्रेजुएशन में थे तो हर युवा की भांति उन्हें भी किसी से प्यार हुआ और कठिनाइयों के सामने आने पर भी वो हार नहीं माने। आखिर में उन्होंने उनसे शादी भी की।

 

और इस तरह शुरू हुआ उन दोनों के बीच बातचीत का सिलसिला

डीटीसी बस में शाहनवाज ने पहली बार रेणु को देखा था। शाहनवाज को पहली नजर में ही रेणु से प्रेम हो गया था। एक दिन बस में भीड़ होने के कारण रेणु को सीट नहीं मिल पाई तो शाहनवाज हुसैन ने अपनी सीट ऑफर की और इस तरह उन दोनों के बीच बातचीत का सिलसिला शुरू हुआ।

 

रेणु से प्यार का किया इज़हार, पर उन्होंने किया इनकार

इसी बीच शाहनवाज ने रेणु के परिवार से भी नजदीकियां बढ़ानी शुरू कर दी और मौका देख शाहनवाज हुसैन ने रेणु से प्यार का इजहार किया तो उन्होंने धर्म का हवाला देकर साफ मना कर दिया।

 

सच्चा प्रेम देख घर वाले भी हुए राज़ी

लेकिन अपनी धुन के पक्के शाहनवाज ने भी 9 साल तक रेणु से शादी का इंतजार किया। हालांकि रेणु के घरवालों ने शादी पर नाराजगी व्यक्त की। लेकिन सच्चा प्रेम देख वह भी राजी हो गए और आखिर उन दोनों ने शादी कर ली।

 

रेणु का हाथ थाम कर छोड़ने जाते थे स्कूल

एक स्कूल में कार्यरत रेणु ने एक इंटरव्यू में बताया था कि शाहनवाज हर रोज उनका हाथ थामकर स्कूल तक छोड़ने जाया करते थे।


Like it? Share with your friends!

-1
Digital Desk

0 Comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *