Sunday, September 26

गांव के लोगों ने करा दी चाची और भतीजे की शादी, गरीबी के कारण पैसे कमाने प्रदेश गए थे चाचा

ऐसे तो कई बार आप प्यार मोहब्बत की खबरें और शादी की बात सुन चुके होंगे। लेकिन इस बार एक ऐसी शादी की खबर सामने आई है जो सचमुच अनोखी है। इस  शादी पर जहां कई लोग सवाल उठा रहे हैं तो कई लोग यह भी कह रहे हैं कि कुछ तो बात रही होगी।

दरअसल एक लड़के की अपनी सगी चाची से शादी करा दी जाती है और आसपास के लोग खामोश रह जाते हैं। मामला बिहार के शिवहर जिलें की है। जहां सोमवार देर रात एक बच्चे की मां की शादी उससे से कम उम्र के लड़के के साथ करा दी गई है।

शिवहर के तरियानी प्रखंड के कुंडल गांव में हुई इस घटना की चर्चा जोरों पर है। बताया जाता है कि जिस लड़के की शादी हुई है उसके चाचा प्रदेश में मजदूरी करते हैं और वह कुछ दिनों से वहीं पर थे। इसी दौरान लड़का अपनी चाची के संपर्क में आया और दोनों की घनिष्ठता बढ़ती गई। दोनों काफी नजदीक आ गए।

जब यह बात आस-पास के गांव वालों को पता चली तो लोगों ने दोनों की जबरदस्ती शादी करा दी। जिस महिला की शादी उसके भतीजे से हुई है उसका नाम शीला देवी बताया जा रहा है।  जिनकी शादी 7 साल पहले कुंडल गांव के रामविनय सहनी के साथ हुई थी। शादी के कुछ सालों के बाद दोनों को एक पुत्र की प्राप्ति हुई। फिलहाल उसका पुत्र 2 साल का है।

रामविनय की आर्थिक स्थिति इतनी अच्छी नहीं है कि वह यहां रह कर घर चला सके इसीलिए पैसे कमाने के लिए वह दूसरे राज्य में चले जाते हैं और वहां मजदूरी करते हैं। कहा जाता है कि रामविनय अपनी आर्थिक स्थिति को देखते हुए साल में एक या दो बार ही घर आते हैं।  इस बार भी ऐसा ही हुआ और उनके बहार में रहने के दौरान उनकी पत्नी और उनका भतीजा एक दूसरे के करीब आ गए।

लोग अक्सर उन्हें एक साथ गांव से बाहर घूमते हुए भी देखने लगे। यहां तक कि कुछ लोगों का कहना है कि राम विनायक की पत्नी और उसका भतीजा कई दिनों तक गांव से बाहर भी रहते थे। सोमवार की रात जब दोनों बाहर से गांव लौट कर आए तो उसके घर पर बड़ी संख्या में गांव वाले पहुंच गए और दोनों की शादी करा दी।

इस दौरान काफी अंधेरा था। अंधेरे में लोगों ने अपने मोबाइल का टॉर्च जलाकर रोशनी की और किसी ने सिंदूर लाकर दिया। फिर लोगों के दबाव में भतीजा ने अपनी चाची की मांग में सिंदूर भर दी। इस दौरान गांव के कई लोग मौके पर मौजूद रहे लेकिन उनमें से किसी ने इस बात की जानकारी प्रशासन को नहीं दी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: