रेलयात्रा करते हैं तो जरुर याद कर लें ये नंबर, कभी भी पड़ सकती है जरूरत, मुसीबत में देगा साथ


0

पूर्व मध्य रेल महानिरीक्षक-सह-प्रधान मुख्य सुरक्षा आयुक्त रवींद्र वर्मा ने बुधवार को रेलवे सभागार में रेल सुरक्षा बल (आरपीएफ.) एवं राजकीय रेल पुलिस (जीआरपी) के अधिकारियों के साथ समन्वय बैठक की। समन्वय बैठक में अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (रेल) आलोक राज, उप पुलिस महानिरीक्षक (रेल) बीएन झा भी उपस्थित थे। इसके साथ ही बैठक में मुजफ्फ रपुर, पटना, जमालपुर एवं कटिहार के पुलिस अधीक्षक (रेल) तथा पांचों मंडल के वरिष्ठ मंडल सुरक्षा आयुक्त/मंडल सुरक्षा आयुक्त एवं मुख्यालय/हाजीपुर के रेल सुरक्षा बल केअधिकारी उपस्थित थे।

महानिरीक्षक-सह-प्रधान मुख्य सुरक्षा आयुक्त रवींद्र वर्मा ने समन्वय बैठक के दौरान पूर्व मध्य रेल के स्टेशनों, ट्रेनों, रेल परिसर में आए दिन होने वाली अपराधिक घटनाओं जैसे चोरी, छिनतई, लूट, डकैती, नशाखुरानी, बम ब्लास्ट एवं महिला यात्रियों से संबंधित अपराध के मामलों पर गंभीरतापूर्वक चर्चा की। उन्होंने आपसी सामंजस्य बनाकर ऐसे अपराधों को नियंत्रित करने पर बल दिया।

एडीजी रेल आलोक राज ने कहा कि रेल यात्रियों की बेहतर सुरक्षा को देखते हुए महत्वपूर्ण ट्रेनों एवं प्रभावित रेल खंडों को चिह्नित करते हुए अधिक से अधिक यात्री गाडिय़ों के मार्गरक्षण कराने पर बल दिया। साथ ही सुरक्षा हेल्पलाइन नंबर 182 तथा राजकीय रेल पुलिस हेल्पलाइन नंबर 1512 पर मिलने वाली शिकायतों के संदर्भ में संयुक्त रूप से रेल सुरक्षा बल (आरपीएफ.) एवं राजकीय रेल पुलिस (जीआरपी) द्वारा त्वरित कार्रवाई करने का निर्देश दिया।

महानिरीक्षक-सह-प्रधान मुख्य सुरक्षा आयुक्त रवीन्द्र वर्मा ने उपस्थित रेल सुरक्षा बल एवं राजकीय रेल पुलिस के अधिकारियों को निर्देश दिया कि यात्री सुरक्षा के मद्देनजर सभी अधिकारी अपने-अपने स्तर पर निरंतर समन्वय बैठक करते हुए कारगर कदम उठाएं।
इनपुट: JMB


Like it? Share with your friends!

0
admin

0 Comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *