पापा का कहा न मानकर प्रेमी के घर पहुंची बेटी, बोली करूंगी शादी, फिर अचानक आई ऐसी खबर कि होने लगा अफसोस


0

पिता की बातों को दरकिनार कर प्रेमी से शादी करने की जिद पर अड़ी प्रेमिका पूजा की शनिवार देर रात हत्या कर दी गई। हत्या को आत्महत्या का रूप देने के लिए प्रेमी के परिजनों ने शव को एक पेड़ से लटका दिया। सूचना जब मृतका के परिजनों को हुई, तो उन्हाेंने पुलिस से शिकायत की। त्वरित कार्रवाई करते हुए पुलिस ने दो महिला समेत प्रेमी के 5 परिजनों को गिरफ्तार कर लिया। इसमें प्रेमी दीपक के पिता महेंद्र मंडल, मां शीला देवी, फूफा रामदेव मंडल, बुआ रेणी देवी तथा कुंदन मंडल शामिल हैं। कांड में शामिल प्रेमी दीपक कुमार समेत तीन आरोपित अभी फरार हैं। मामला चौसा थाना क्षेत्र के रसलपुर धुरिया पंचायत के टिल्लारही वार्ड 14 की है।

उदाकिशुनगंज एसडीपीओ सीपी यादव ने घटना स्थल पर जाकर मामले की छानबीन की। थाना में आयोजित प्रेस वार्ता में उन्होंने बताया कि प्रथमदृष्टया लड़की की हत्या कर उसके शव को पेड़ से लटका कर आत्महत्या का रूप देने की कोशिश की गई है। मौके पर थानाध्यक्ष सुमन कुमार सिंह, एएसआई ज्योतिष भगत व अन्य मौजूद थे।

शौच के बहाने घर से निकली थी युवती
टिल्हारही के मंजीत मंडल की 16 वर्षीया पुत्री कविता शनिवार शाम 7 बजे घर से शौच के बहाने निकली थी। काफी देर बाद भी वापस नहीं आने पर परिजनों ने खोज शुरू की। पता चला कि कविता गांव में ही प्रेमी दीपक के घर पर है। परिजनों ने घर ले जाने का बहुत प्रयास किया, पर दीपक के साथ शादी की जिद पर अड़ी कविता घर नहीं लौटी। हठ देख परिजनाें ने दीपक से शादी का आग्रह किया तो दीपक ने इनकार कर दिया।
ग्रामीणों ने भी शादी कराने का किया प्रयास
प्रेमी-प्रेमिका के बीच नोक-झोंक को देख ग्रामीण भी जमा हो गए और दोनों से बातचीत की। फैसला किया गया कि कविता अभी घर चली जाएगी। शादी की बातचीत सुबह में होगी। इसके बाद परिजन जब उसे ले जाने लगे तो भी वह नहीं गई।

बिजली गुल होने के बाद हत्या करने की आशंका
सूत्रों की मानें तो दीपक के परिजनों ने फैसला किया कि किसी तरह इस लड़की को दीपक की जिंदगी से हटाया जाए। इसी दौरान रात के लगभग तीन बजे अचानक बिजली कट गई। आशंका है कि इसी अंधेरे का फायदा उठाकर दीपक के परिजनों ने कविता की हत्या कर उसे आत्महत्या का रूप देने के लिए बगीचे में एक पेड़ से गले में दुपट्टा का फंदा लगाकर लटका दिया। मृतका के भाई सितावी कुमार ने दर्ज कराया है।
INPUT:DBC


Like it? Share with your friends!

0
admin

0 Comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *