ऑनलाइन पैसों का लेनदेन करने वालों के लिए बिग न्यूज़, आज से बदल गए ये नियम


0

ऑनलाइन पैसे का ट्रांजैक्शन करने वालों के लिए एक बड़ी खबर सामने आई है। जिसके मुताबिक यह पता चला है कि भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने रियल टाइम ग्रॉस सेटलमेंट (RTGS) का समय एक घंटा बढ़ा दिया और नया बदलाव आज से लागू हो गया है. आप आज से सुबह 7 बजे से RTGS कर सकेंगे. ग्राहकों की सुविधा के लिए RBI ने इसका समय सुबह 7 से शाम 6 बजे तक कर दिया है. इसके पहले इसका समय सुबह 8 बजे से शाम 6 बजे तक था.

इतना अमाउंट कर सकते हैं ट्रांसफर
बता दें कि RTGS ट्रांजैक्शन (इंटरनेट बैंकिंग से पैसों का लेन-देन) रियल टाइम बेसिस पर होती है. RTGS) का इस्तेमाल बड़े अमाउंट के ट्रांजैक्शन के लिए होता है. ट्रांजैक्शन करते ही दूसरे अकाउंट में पैसा ट्रांसफर हो जाता है. आरटीजीएस (RTGS) से मुख्य रूप से 2 लाख रुपये या उससे ज्यादा रकम ट्रांसफर की जाती है. हालांकि इसके लिए खास समय निश्चित है. आरटीजीएस का रखरखाव करने वाले रिजर्व बैंक (RBI) ने हाल में आरटीजीएस ट्रांसफर की टाइमिंग में डेढ़ घंटे तक का विस्तार भी किया है.

RTGS की नई टाइमिंग
आरबीआई ने RTGS का समय बढ़ा दिया है. अब सुबह 8 बजे की बजाय 7 बजे से RTGS शुरू होगा. पहले ग्राहकों के लिए RTGS सिस्टम की टाइमिंग सुबह 8 बजे से शाम 6 बजे तक थी. वहीं इंटर-बैंक ट्रांजैक्शन की टाइमिंग सुबह 8 बजे से शाम 7.45 बजे तक थी. अब ग्राहकों और बैंकों के लिए RTGS सुबह 7 बजे से शुरू होगा.
इस दिन बंद रहती है सर्विस
दूसरे-चौथे शनिवार को बैंक की छुट्टी के साथ-साथ यह सर्विस बंद रहती है. वहीं, रविवार और बैंक की जब-जब छुट्टी होती है ये सर्विस बंद रहती है.

NEFT के रूल में भी किया गया बदलाव
बता दें कि इसके पहले RBI ने National Electronic Funds Transfer (NEFT) की टाइमिंग को भी बढ़ाकर 24×7 कर दिया है. यह सुविधा इस साल दिसंबर से शुरू होने वाली है. फिलहाल NEFT का पेमेंट सिस्टम बस वर्किंग ऑवर्स में ही अवेलेबल रहता है. अगर आप कट-ऑफ टाइम के बाद पेमेंट करते हैं तो आपका ट्रांजैक्शन अगले वर्किंग डे पर कंप्लीट होता है. ये पेमेंट सिस्टम यूजर्स के लिए वर्किंग डेज़ पर सुबह 8 बजे से शाम के 7 बजे तक अवेलेबल रहता है. वहीं, ये सुविधा महीने के दूसरे और चौथे शनिवार को भी उपलब्ध नहीं रहती.


Like it? Share with your friends!

0
admin

0 Comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *