अभी अभी भारत ने लगा ही दिया धारा 144, सारे नेताओं को किया गया गि'रफ़्ता'र, Internet, मोबाइल सब बंद किया गया


0

कश्मीर में इंटरनेट हुआ बैन, पुलिस अधिकारियों को बांटे गए सैटेलाइट फोन
नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता फारूक अब्दुल्ला के श्रीनगर में एक ऑल पार्टी मीटिंग के बाद मीडिया से मुखातिब हुए. उन्होंने कहा मैं दोनों देशों, भारत और पाकिस्तान से अपील करता हूं कि वे ऐसा कोई भी कदम न उठाएं जिससे दोनों देशों के बीच तनाव बढ़े.

फारूख अब्दुल्ला के घर में मीटिंग शुरू. पहले ये पार्टी महबूबा मुफ्ती के घर होने जा रही थी. ऐन वक्त पर मीटिंग की जगह बदली गई. मीटिंग में महबूबा मुफ्ती, फारूक अब्दुल्ला, शाह फैजल, सज्जाद लोन सहित तमाम नेता मौजूद हैं.


केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह दिन भर अपने संसद स्थित ऑफिस में रहे. मीटिंग का दौर लगातार जारी रहा. मीटिंग के कारण वे बीजेपी की कार्यशाला में नहीं हुए शामिल.
उत्तरी कश्मीर के कुपवाड़ा जिले में रविवार सुबह एक धमाका हुआ. नियंत्रण रेखा पर केरन के फिरकियां में हुए इस धमाके में एक शख्स की मौत हो गई. यह घटना एक दर्जी की दुकान में हुई. बाद में सुरक्षा बलों और पुलिस की संयुक्ट टीम ने इस दुकान की तलाशी ली जिसमें 15 हथगोले बरामद किए गए.

धमाके के तुरंत बाद पुलिस और आर्मी की एक संयुक्त टीम घटनास्थल पर पहुंची और मौके का मुआयना किया जिसमें हथगोले बरामद हुए. दर्जी की दुकान में मृत शख्स का नाम अब्दुल हमीद बजाद है जो स्थानीय नागरिक है. हथगोले बरामद होने के बाद पुलिस ने दर्जी को गिरफ्तार कर लिया. इस दर्जी का नाम परवेज खवाजा है. हथगोले से उसके क्या संबंध हैं, पुलिस इस बारे में पूछताछ कर रही है.
 
घटना की पुष्टि करते हुए एक अधिकारी ने कहा, ऐसा लगता है दुकान में रखे हथगोले में विस्फोट हो गया. अधिकारी ने कहा, ‘पुलिस धमाके की जांच कर रही है.’ अधिकारी ने हथगोले की बरामदगी को बड़ी कामयाबी बताई है क्योंकि इस इलाके में आर्मी की मौजूदगी बड़े स्तर पर है. लिहाजा कोई बड़ी घटना होने से पहले ही कार्रवाई पूरी हो गई.
 
भारतीय सेना ने रविवार को पाकिस्तानी सेना को उसके मृत सैनिकों के शव ले जाने का प्रस्ताव दिया है. ये सैनिक जम्मू एवं कश्मीर में घुसपैठ करने के प्रयास के दौरान मारे गए थे. भारतीय सेना के सूत्रों ने कहा, “पाकिस्तानी सेना को सफेद झंडा लेकर आने और भारतीय सीमा में मारे गए पाकिस्तानी सैनिकों के शव उनके अंतिम संस्कार के लिए ले जाने का प्रस्ताव दिया गया है.”

जिसके बाद ऐसे कयास लगाए जा रहे हैं कि बीजेपी अपना चुनावी वादा पूरा करने की दिशा में कदम बढ़ाते हुए राज्य में आर्टिकल 35 ए हटाने को लेकर बड़ा फैसला लेने वाली है.


Like it? Share with your friends!

0
admin

0 Comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *