अभी अभी बड़ा खुलासा, POK में ये काम कर रहा है पाकिस्तान, LOC के पास कमांडिंग अफसर किये तैनात


0

अभी अभी मीडिया रिपोर्ट के माध्यम से एक बड़ा खु’ला’सा हुआ है. जिसमें पाकिस्तान के द्वारा चोरी छुपे किये जा रहें काम का पर्दाफाश हो गया है. दरअसल जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 खत्म होने के बाद से बौखलाया पाकिस्तान पाक के कब्जे वाले कश्मीर(POK) में जंग का सामान जमा कर रहा है. मीडिया रिपोर्ट्स में यह दावा किया जा रहा है कि पाकिस्तानी सेना ने पीओके में अपनी गतिविधियां तेज कर दी है. एलओसी के पास स्पेशल कमांडिंग ऑफिसर तैनात किए गए हैं. साथ ही अलग से 6 ब्रिगेड तैयार की जा रही हैं.

‘दैनिक भास्कर’ ने अपनी रिपोर्ट में बताया है कि पाकिस्तानी आर्मी पीओके में भारत के खिलाफ छोटे युद्ध के लिए साजो-सामान जुटा रही है. एलओसी के हर क्षेत्र में ब्रिगेड जमा की जा रही है. पाक आर्मी का खास फोकस दाना और बाघ सेक्टर में है. लीपा और चंब सेक्टर में भी सेना की गतिविधि बढ़ा दी गई है. यहां भारी हथियार और जंग के अन्य साजो-सामान इकट्ठा किए जा रहे हैं. रिपोर्ट के मुताबिक, दाना सेक्टर में जिस तरह से हथियार इकट्ठा किए जा रहे हैं, वो सामान्य नहीं है. हालात देखकर ऐसा लगता है कि जंग किसी भी वक्त शुरू हो सकती है.

भास्कर की रिपोर्ट के मुताबिक, पीओके में जो कुछ भी होना है वह सितंबर से अक्टूबर के बीच ही होना है, क्योंकि इसके बाद बर्फ पड़नी शुरू हो जाएगी और युद्ध लड़ना असंभव हो जाएगा. पाक सेना का मानना है कि बर्फ पड़ने से पहले भारत उन्हें नीलम नदी से पीछे धकेलना चाहता है. फिर अगली गर्मी तक के लिए दोनों सेनाओं की यह स्टैंड-स्टिल पोजिशन बन जाएगी. अगर ऐसा होता है तो सेना हर हालत में इसे रोकेगी.

पाकिस्तान के चीफ ऑफ आर्मी स्टाफ जनरल कमर जावेद बाजवा ने कहा है कि उनकी सेना भारत की गतिविधियों पर नजर रखे हुए हैं. भारत के किसी भी हमले का जवाब देने के लिए हमारी सेना पूरी तरह तैयार है.

इन फोटो में साफ दिख रहा है कि ओरमारा में जिन्ना नौ सैनिक अड्डा अब पूरी तरह से खाली है. वहीं, दाईं ओर का इनसेट ग्वादर बंदरगाह को भी पूरी तरह से खाली करा लिया गया है, जबकि बाईं तरह का इनसेट कराची में नौसैनिक डॉक के तीन जहाज खड़े दिखाई दे रहे हैं. पिछले तीन महीनों से ली जा रही इन सैटेलाइट तस्वीरों में यह तस्वीरें सबसे अलग दिखाई देती हैं.


Like it? Share with your friends!

0
admin

0 Comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *