अभी अभी आई सलमान और उनके फैन के लिए बड़ी खुशखबरी, पूरा हुआ यह अरमान


0

हिंदी सिनेमा के दबंग हीरो सलमान खाना को गुरुवार को जोधपुर की अदालत काला हिरण शिकार मामले में दोषी करार देते हुए पांच साल जेल की सजा सुनाई. जबकि शनिवार को उन्हें इस मामले में बेल मिल गई है. अब जल्द ही सलमान जेल से बाहर आएंगे. काला हिरण शिकार मामले में जोधपुर सेंट्रल जेल में सजा काट रहे बॉलीवुड सुपरस्टार सलमान खान की जमानत याचिका पर शनिवार को सुनवाई पूरी हो गई. सलमान को बेल मिलने से उनके वो सभी फैन्स काफी खुश होंगे जो उन्हें सजा होने बाद काफी दुखी हुए थे और उनके लिए दुआ कर रहे थे.

जोधपुर सेशन कोर्ट के जज रवींद्र कुमार जोशी ने सलमान खान की जमानत याचिका को मंजूरी दे दी है. जज जोशी ने फैसला सुनाने में जल्दबाजी न करते हुए केस का अध्ययन करने में एक घंटे का अतिरिक्त समय लिया. इससे पहले सलमान की जमानत पर फैसला 2.0 बजे आने वाला था. बताया जा रहा है कि जज जोशी बेहद अनुशासित हैं और हमेशा कोर्ट में समय पर आते हैं. ऐसे में अपेक्षा की जा रही थी कि अब 2.0 बजे फाइनल फैसला आ ही जाएगा. लेकिन जिस तरह करीब एक घंटा फैसला सुनाने का समय टाला गया है, लग रहा है जज जोशी बेहद फूंक-फूंककर कदम उठा रहे हैं.

जज जोशी अपने चेंबर में एक घंटे से अधिक समय तक बैठे रहे और केस का अध्ययन कर फैसला लिखते रहे. उन्होंने अपने पियोन से सूचित करवाया कि उन्हें केस का अध्ययन करने में करीब एक घंटा और लगेगा. जानकारी के मुताबिक, आज बेल पर सुनवाई के दौरान जज जोशी वकीलों की दलीलें सुनने के बाद थोड़ी देर रुकते और उसके बाद कागज पर कुछ नोट्स ले रहे थे. जज जोशी ने केस की गंभीरता को समझते हुए सभी वकीलों की दलीलों पर इसी तरह कुछ न कुछ नोट्स लिया है.
जज जोशी सुनवाई के दौरान लगातार कागज पर अपना मत लिखते जा रहे थे और जब सुनवाई पूरी हो गई तो उन्होंने कहा ‘ऑर्गुमेंट इज ओवर’.

बड़ा दें कि यह घटना ‘हम साथ साथ है’ फिल्म की शूटिंग के दौरान दो अक्टूबर 1998 का है. सलमान खान वन्यजीव संरक्षण कानून की धारा 51 और अन्य कलाकार वन्यजीव संरक्षण कानून की धारा 51 तथा भारतीय दंड संहिता की धारा 149 (गैरकानूनी जमावड़ा) के तहत आरोपों का सामना कर रहे हैं. सरकारी वकील भवानी सिंह भाटी ने कहा कि उस रात सभी कलाकार जिप्सी कार में थे, सलमान खान वाहन चला रहे थे. हिरणों का झुंड देखने पर उन्होंने गोली चलाई और उनमें से दो हिरण मार दिये थे. सरकारी वकील का कहना है कि जब लोगों ने उन्हें देखा और उनका पीछा किया तो ये कलाकर मृत हिरणों को मौके पर छोड़कर भाग खड़े हुए. उन्होंने कहा कि उन लोगों के खिलाफ पर्याप्त सबूत हैं


Like it? Share with your friends!

0
admin

0 Comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *