सऊदी की जेल में बंद है पति, पत्नी ने लगाई गुहार, विदेश मंत्री ने की पहल अब आएगा वापस


0

सऊदी की जेल में बंद है पति, पत्नी ने लगाई गुहार, विदेश मंत्री ने की पहल अब आएगा वापस

सऊदी अरब की जेल में बंद देवरिया रामपुर कारखाना थाना क्षेत्र के शाहजहांपुर निवासी रामविलास की पत्नी सुमन के ट्वीट का असर अब दिखने लगा है। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने ट्वीट को गुरुवार को गंभीरता से ले लिया और विदेश मंत्री के निर्देश पर विदेश मंत्रालय ने अपनी कार्रवाई शुरू कर दी है। ट्वीट करने वाली सुमन देवी ने विदेश मंत्री व भारत सरकार की इस पहल को स्वागत करने के साथ ही धन्यवाद भी दिया है।

शाहजहांंपुर निवासी रामविलास गुप्ता रोजगार की तलाश में 2012 में सऊदी अरब गए। वहां पर वह गुटुफ ट्रेनिंग कंसट्रक्शन कंपनी में ग्रेडर आपरेटर के रूप में काम करने लगे। 26 अप्रैल 2014 को ग्रेडर चलाने के दौरान एक दुर्घटना हो गई। इसके बाद रामविलास को दो माह के लिए जेल भेज दिया गया। मुकदमा चला और न्यायालय ने साल भर के भीतर 150000 रियाल का जुर्माना भरने का निर्देश दिया।कंपनी के मालिक ने यह जुर्माना भरने का रामविलास से वादा किया और उससे काम कराता रहा लेकिन जुर्माना भरने के समय वह पलट गया। जुर्माना न भरने पर तीन मई 2017 को पुलिस ने रामविलास को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। तभी से वह जेल में बंद है। रामविलास की पत्नी सुमन ने कई बार अधिकारियों का चक्कर लगाया ताकि उसके पति की वतन वापसी हो जाए लेकिन कोई पहल न होने पर सुमन ने प्रधानमंत्री, विदेश मंत्री, मुख्यमंत्री समेत अन्य अधिकारियों को ट्वीट किया।

ट्वीट होने के बाद गुरुवार को खुद विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने इसे संज्ञान में लेते हुए पूरी पत्रावली को तलब करने के साथ ही विदेश मंत्रालय को इस पर कार्रवाई शुरू करने का निर्देश दिया। निर्देश के क्रम में विदेश मंत्रालय ने ट्वीट कर सुमन को सऊदी अरब एंबेसी से बातचीत करने की प्रक्रिया शुरू कर देने की बात कही है। उधर, विदेश मंत्री व विदेश मंत्रालय की पहल का ट्वीट मिलने के बाद सुमन ने भारत सरकार को इसके लिए धन्यवाद दिया है। जागरण को सुमन ने बताया कि विदेश मंत्रालय की पहल के बाद अब उसके पति की वतन वापसी की राह आसान दिखने लगी है।
इनपुट:JMB



Like it? Share with your friends!

0
user

0 Comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *