विदेश में ऐसे फँसा, सिवान का ये लाल, पास्पोर्ट भी छीना गया, बहुत दुःख भारी हैं दास्ताँ


0

सिवान : जिले में विदेश भेजने वाले अवैध एजेंटों का जाल इस कदर फैला है कि यहां कोई ना कोई बेरोजगार इनके चंगुल में फंस ही जाता है और विदेशों में जाकर परेशानी का सबब बनता है। इसी तरह शहर का एक परिवार अपने लाडले को विदेश भेजकर परेशानी झेल रहा है। महादेवा ओपी क्षेत्र के माधव नगर मोहल्ला निवासी कौशिक प्रसाद का पुत्र शशि कुमार वर्मा के स्वदेश लौटने के इंतजार में टकटकी लगाए बैठे हैं ।
 
 
परिजनों को उनके स्वदेश लौटने के इंतजार में आंखें पथरा गई है। शशि कुमार वर्मा अपने तीन भाईयों में क्रमश: सबसे बड़ा है। दूसरा भाई आनंद कुमार सोनी तथा तीसरे नंबर का भाई ओमप्रकाश सोनी मोबाइल मैकेनिक का काम महादेवा के मालवीय चौक पर करते हैं। पिता कौशिक प्रसाद शहर में जहां तहां घूमकर गोलगप्पा का दुकान चलाते हैं। बता दें कि कई सपने संजोय पिता कौशिक प्रसाद ने बड़े अरमान के साथ अपने पुत्र शशि कुमार वर्मा को पांच महीने पूर्व विदेश भेजा था।
 
 
 
विदेश में फंसे शशि कुमार वर्मा के भाई आनंद कुमार सोनी ने बताया कि नौतन थाना क्षेत्र के किशुनपुरा गांव निवासी राम नारायण कुशवाहा ने मेरे भाई को धोखाधड़ी कर मलेसिया में टूर विजा में भेज दिया है। वहां वह पांच महीने से भूखे प्यासे की ¨जदगी गुजार रहा है। मेरे भाई वहां मौजूद दूसरे किसी का मोबाइल मांग कर फोन कर रहे हैं और वहां के लोग मदद के रूप में खाना भी खिला देते हैं.
 
 
 
उनके भाई ने बताया कि एजेंटों द्वारा जिस ठेकेदार के पास भेजा गया है वह ठेकेदार मेरे भाई का पासपोर्ट भी छीन लिया है और मांगने पर नहीं दे रहा है। शशि कुमार वर्मा के परिजनों ने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, स्थानीय डीएम से विदेश में फंसे अपने लाल को स्वदेश बुलाने को लेकर पत्राचार के माध्यम से गुहार लगाई है। परंतु अब तक परिजनों को कोई लाभ न मिल सका है। परिजन लगातार पत्राचार के माध्यम से तीन महीने से गुहार लगा रहे हैं, क्योंकि पासपोर्ट मांगने पर मलेशिया का ठेकेदार तरह-तरह का धमकी भी दे रहा है। परिजनों ने बताया कि एजेंट के पास हमलोग फोन करते-करते हार-थक गए हैं। वह फोन भी नहीं उठा रहा है।


Like it? Share with your friends!

0
user

0 Comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *