महिला को एजेंट ने पाकिस्तानी से बेचा, सुनकर पति की मौ'त, आगे आये इंडियन अंबैसी व सनी देओल, अब वापस आएगी घर


0
  • कर्ज के बोझ तले दबी महिला को एजेंट ने दिया धोखा
  • काम की तलाश में खाड़ी देश कुवैत गई थी महिला
  • काम दिलाने के बहाने ट्रैवल एजेंट ने उसे पाक नागरिक से 1200 दिनार में बेचा
  • महिला की वापसी के लिए परेशान परिवार के सदस्यों ने लगाई गुहार

 

  • 21 मई 2019 को पति की हार्टअटैक से हो गई मृत्यु
  • सांसद सनी देओल और जिला लीगल सर्विस ऑथोरिटी की कोशिशों से मिली सफलता
  • इंडियन अंबैसी ने 1200 दिनार देकर महिला को छुड़वाया
  • 26 जुलाई को पाकिस्तान से वापस भारत लौट आएगी वह

 

  • एजेंट पर दर्ज किया गया है केस
  • ट्रैवल एजेंट मुख्तयार सिंह के जरिए वह जुलाई-2018 को गई थी कुवैत
  • काफिला सिस्टम की भेंट चढ़ गई थी विना वेदी
  • सांसद सनी देओल ने कुवैत की इंडियन अंबैसी को लिखे थे पत्र

  • जिला लीगल सर्विस अथाॅरिटी द्वारा वीना बेदी की काउंसलिंग के लिए विक्रम सिंह को काउंसलर किया गया है नियुक्त
  • सोशल वेलफेयर की ओर से किया जाएगा उनकी बेटी और बेटे की फ्री एजुकेशन का प्रबंध
  • सोसाइटी की ओर से दी जाएगी वीना को स्किल डिवेलपमेंट की ट्रेनिंग

 
 
कर्ज से जल्द उबरने के लिए कुवैत गई धारीवाल की महिला वीना 26 जुलाई को पाकिस्तान से वापस भारत लौट आएगी। वीना को ट्रैवल एजेंट ने वहां एक पाकिस्तानी शख्स को 1200 दिनार में बेच दिया था। अब महिला को वापस लाने के लिए इंडियन अंबैसी ने 1200 दिनार (2.70 लाख रुपए) उस आदमी को देकर वीना को छुड़वाया है। वहीं, एजेंट पर भी केस दर्ज किया गया है। महिला की घर वापसी जिला लीगल सर्विस अथाॅरिटी और सांसद सनी देओल के प्रयास से हो सकी है।

कुवैत में न पैसे मिले, न परिजनों से संपर्क हो पा रहा था
महिला के बच्चे रोहित, मोहित और स्मृधि ने बताया कि उनके पिता सुरिन्दर बेदी बिजली विभाग में नौकरी करते थे। उन्होंने कर्ज लेकर घर बनाया था। परिवार के खर्च के लिए पति का हाथ बंटाने के लिए उनकी मां वीना ने विदेश में हाउसकीपिंग का काम करने का मन बनाया। इसे लेकर अमृतसर के गांव खलयिसां के ट्रैवल एजेंट मुख्तयार सिंह के जरिए वह जुलाई-2018 को कुवैत चली गई, लेकिन केवल पहले महीने का वेतन भेजने के बाद न तो पैसे आए और न ही उनसे फोन पर बात हुई। एक बार मां से फोन पर केवल दो मिनट के लिए बात हुई, जिसमें उन्होंने उसे वापस भारत लाने का इंतजाम करने के लिए कहा और हालत के बारे में बताया।
ट्रैवल एजेंट ने पैसे लिए, लेकिन वापस नहीं भेजा
इसके बाद महिला के पति सुरिन्दर ने पत्नी वीना को वापस लाने के लिए ट्रैवल एजेंट से बात की, लेकिन एजेंट ने उनसे वीना को वापस लाने के लिए पैसे तो ले लिए, लेकिन वीना को वापस नहीं लाया। रोहित ने बताया के इसी परेशानी की हालत में उनके पिता सुरिन्दर की 21 मई 2019 को हार्ट अटैक से मौ’त हो गई। उसके बाद अब तीनों बच्चे अपनी मां वीना को कुवैत से वापस लाने की गुहार लगा रहे हैं।

काफिला सिस्टम की भेंट चढ़ गई थी वीना
जिला लीगल सर्विस ऑथोरिटी की सचिव जज राणा कंवरदीप कौर ने बताया कि वीना बेदी काफिला सिस्टम की भेंट चढ़ गई थी। इसके तहत बहरीन, ईराक, जार्डन, लैबनान, कुवैत, ओमान, कतर, सउदी अरब और यूएई में घरेलू वर्कर्स को शोषण का शिकार होना पड़ता है। वर्कर न तो अपने काम से त्याग पत्र दे सकते हैं, न काम बदल सकते हैं। न ही उन्हें काम पर रखने वाले की आज्ञा के बिना वापस आ सकते हैं। कुवैत स्थित अंबैसी ऑफ इंडिया के सेकंड सेक्रेटरी सिबी यूएस ने जिला लीगल सर्विस अथाॅरिटी सचिव को वीना बेदी के 26 जुलाई को लौटने की जानकारी दी है।
सनी ने कुवैत की इंडियन अंबैसी को लिखा था पत्र
मामला सामने आने पर एडवोकेट कमल किशोर अत्री और पीएलवी (पैरा लीगल वाॅलंटियर) रणयोध सिंह बल ने इस परिवार से संपर्क किया। इसके बाद जिला लीगल सर्विस अथाॅरिटी ने एनजीओ शहीद भगत सिंह यूथ क्लब कुवैत और कुवैत में इंडियन अंबैसी के साथ संपर्क किया। इंडियन अंबैसी ने पाकिस्तानी शख्स को 1200 दिनार देकर वीना बेदी को छुड़वाया। उन्होंने बताया कि इसमें सांसद सनी देओल की भूमिका भी सराहनीय रही है। सांसद देओल ने कुवैत की इंडियन अंबैसी को पत्र लिखे थे। इसका अच्छा रिस्पाॅन्स रहा। सांसद सनी देओल और लीगल एडवाइजर कमेटी की सहायता से अब वीना बेदी घर वापस आ जाएगी।
वीना की होगी काउंसलिंग
जिला लीगल सर्विस अथाॅरिटी द्वारा वीना बेदी की काउंसलिंग के लिए विक्रम सिंह को काउंसलर नियुक्त किया गया है। इसके अलावा उनकी बेटी और बेटे की फ्री एजुकेशन का प्रबंध सोशल वेलफेयर की ओर से किया जाएगा। सोसाइटी की ओर से वीना को स्किल डिवेलपमेंट की ट्रेनिंग भी दी जाएगी।


Like it? Share with your friends!

0
Ravi Shekhar

0 Comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *