भारतीय कामगार भाग आया सउदी, इस IPS ने साउदी से खिचवा लिया इस गंदे आदमी को…


0

न्यूज़ मिनट की खबर के मुताबिक सुनील कुमार कोल्लम का रहने वाला है लेकिन सऊदी अरब में एक टाइल फैक्ट्री में काम करता है. 2017 में वो छुट्टियां मनाने केरल आया हुआ था. उसी दौरान अपने दोस्त की 13 साल की भांजी का यौ’न शोषण किया था.
 
 
बेबी फिल्म देखी होगी तो अक्षय कुमार का करेक्टर याद होगा. जो एक आतंकी को सऊदी जाकर पकड़ता है और अपने भारत ले आता है. वो तो फिल्म थी, वैसी एक सच्ची घटना केरल में सामने आई है. कोल्लम पुलिस कमिश्नर मेरिन जोसेफ रियाद, सऊदी अरब से सुनील कुमार भद्रन को पकड़ लाईं, जो एक 13 साल की बच्ची से रेप का आरोपी है.
 
 
 
न्यूज़ मिनट की खबर के मुताबिक सुनील कुमार कोल्लम का रहने वाला है लेकिन सऊदी अरब में एक टाइल फैक्ट्री में काम करता है. 2017 में वो छुट्टियां मनाने केरल आया हुआ था. उसी दौरान अपने दोस्त की 13 साल की भांजी का यौन शोषण किया था.

बच्ची ने कुछ दिन बाद अपने परिवार को यौन शोषण की बात बताई. परिवार पुलिस के पास गया. पुलिस ने लुकआउट नोटिस जारी किया, तब तक सुनील देश छोड़ चुका था. इधर लड़की ने जून 2017 में आत्महत्या कर ली थी. उसके मामा ने परिवार को सुनील कुमार के बारे में बताया और फिर खुद भी सुसाइड कर लिया.
मेरिन जोसेफ ने जून 2019 में कोल्लम कमिश्नर का चार्ज संभालने के बाद महिलाओं और बच्चों से जुड़े अपराधों की लिस्ट मंगाई. उन्हें इस केस के बारे में पता चला कि 2 साल पहले इंटरपोल नोटिस इश्यू किया जा चुका है, पब्लिक में इस केस को लेकर भारी गुस्सा था, फिर भी कोई कार्रवाई न हो सकी, सुनील को प्रत्यर्पित नहीं कराया जा सका.
खुद उठाई जिम्मेदारी
2010 में तत्कालीन भारतीय प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और सऊदी किंग अब्दुल्ला ने एक प्रत्यर्पण समझौते पर साइन किए थे. इसी का इस्तेमाल करने के लिए मेरिन बीते रविवार सऊदी अरब जा पहुंचीं. वहां जाने पर क्या होने वाला है, कुछ पता नहीं था. बहुत सारी कागजी कार्रवाई से निपटकर आरोपी को प्रत्यर्पित करके भारत ले आईं. इससे पहले आईपीएस अफसर अपने जूनियर्स को भेज देते थे लेकिन खुद नहीं गए. वहां जाने पर पता चला था कि सुनील कुमार सऊदी की जेल में है. वो पहला आरोपी है जिसे केरल में किए क्राइम के लिए प्रत्यर्पित कर वापस लाया जा सका है.


Like it? Share with your friends!

0
user

0 Comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *