दुबई को लगा शॉक: इस भारतीय कामगार ने रो रो कर दुबई मैनेजर से छुट्टी ले भारत में आकर कर दी हत्या


0

अभी-अभी दुबई से एक बड़ी खबर आ रही हैं,  दुबई से मिली जानकारी के अनुसार एक भारतीय हत्याकांड ने पूरे दुबई को सकते में डाल दिया है. अभी जो मामला सामने आया है वह केरल में एक दर्दनाक हत्या से जुड़ा हुआ है.

खालीज  टाइम्स के अनुसार हत्या करने वाला भारतीय शक पिछले 4 सालों से दुबई का निवासी था.  सूत्रों के मुताबिक उस शक्स ने पिछले शनिवार को ही संयुक्त अरब अमीरात में आपातकालीन छुट्टी लेकर दुबई को छोड़ दिया था.  इसने यह छुट्टी अपने बहनोई को सुनियोजित ढंग से हत्या करने के लिए लिया था. यह सब दुबई में एक इलेक्ट्रिशियन के रूप में काम करने वाला भारतीय कामगार है जिसका नाम सियान चाको है,. और इसकी उम्र 26 साल है.  इस शख्स ने अपने 23 वर्षीय दलित ईसाई केविन पी जोशेफ़ की हत्या की है, जिसकी उम्र महज अभी 23 साल थी. हत्या का अहम कारण परिवार की इच्छाओं के विरुद्ध उसकी 20 वर्षीय अपनी बहन नीनू चाको से विवाह करना था.
 
दुबई के जिस कंपनी में यह शख्स काम कर रहा था उस के मैनेजर ने बताया कि यह शख्स मेरे पास आया और जोर-जोर से फूट-फूट कर रोने लगा और शनिवार के दिन कहने लगा कि मुझे आपातकालीन छुट्टी दे दी जाए मेरे घर में मेरी बहन मिसिंग हैं और मेरे पिताजी हॉस्पिटल में हैं,  जिसके बाद मैंने तुरंत इसकी छुट्टी अप्रूव कर इसे घर जाने दिया. यह बातें मैनेजर ने खालीज टाइम को बताया.
 
मैनेजर ने भी बताया कि मैं अभी जब टेलीविजन चैनलों पर इस खबर को देखा तो मैं उसके बाद से काफी सदमे की स्थिति में हूं क्योंकि मैं उसे 4 साल से जानता हूं और यह समझने में काफी असमर्थ हूं कि वह ऐसा बदला लेने वाला कार्य कैसे कर सकता है.
 
भारतीय पुलिस ने बताया कि जिस दिन यह सख्त यहां पहुंचा उस दिन रात में ही केविन को किडनैप कर इस तरीके से उसे टॉर्चर किया गया कि उसकी मौत हो गई है,  और इस मामले में इस शख्स को गिरफ्तार किया जा चुका है.
 
क्यों  किया यह अपराध ?
खाड़ी खबर को मिली जानकारी के अनुसार केविन और सियानु की बहन पिछले 2 सालों से रिश्ते में थे जिसके खिलाफ इनका पूरा परिवार था लेकिन यह दोनों अपने रिश्ते में आगे बढ़े और इसी 24 मई को केरल के कोट्टायम जिले में अपनी शादी को पंजीकृत करने के लिए आवेदन किया था.
 
फिर क्या हुआ ?
शनिवार की रात को पुरुषों का एक गिरोह उस घर में घुस आया जहां केविन अपने महिला साथी के साथ छिपा रहता था और इन दोनों का अपहरण कर लिया गया तत्पश्चात केविन को मौत के घाट उतार कर एक खाई में फेंक दिया गया जहां लड़के का परिवार रहता था और बाद में लड़की को इस गिरोह ने मुक्त कर दिया.
 
केरल पुलिस ने दुबई कामगार सिनु को मुख्य  संदीघ्द्थ और उसके पिता को 14 वे आरोपी के तौर पर नामित किया है.  इस घटना के बाद से केरल राज्य में पूरे सकते में है जो कि अपने शत प्रतिशत साक्षरता दर और कुछ सामाजिक विकास सूचकांक के लिए जाना जाता है.
 
इस मामले में मुख्यमंत्री को भी एक पक्ष में रखा गया है क्योंकि पीड़ित के परिवार ने पुलिस पर लापरवाही का आरोप लगाया है इस मामले में कुल 14 लोगों को आरोपी बनाया गया है.  और पुलिस ने सूत्रों का हवाला देते हुए यह कंफर्म किया है जान दुबई से भारत पहुंचा और अपनी बहन को घर वापस ले गया और इसी दौरान इसने अपने बहनोई की हत्या की जिससे इन दोनों की शादी की योजनाएं टूट गई.


Like it? Share with your friends!

0
user

0 Comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *