दुबई के लिए उड़ी भारतीय फ़्लाइट की इमर्जन्सी लैंडिंग, स्पाइस जेट के बोइंग 737 के 187 यात्रियों में हड़कम्प


0

दुबई के लिए अमृतसर से निकाल एक फ्लाइट रनवे से वापस लौट आया। इस कारण फ्लाइट में बैठे लोग काफी परेशान हो गए और क्रू मेंबर्स से सवाल करने लगे। दुबई के लिए रवाना इस फ्लाइट को रनवे से इसलिए वापस लौटना पड़ा क्योंकि टैंक में फ्यूल था ही नहीं। पायलट को ये बातें टेकऑफ करते वक्त ध्यान में आईं तो उसने तुरंत टैंक भरने के लिए फ्लाइट को रनवे से वापस ले लिया।

Flight

स्पाइस जेट के बोइंग 737 विमान को अमृतसर से दुबई के लिए रवाना होना था लेकिन वो रनवे से ही लौट आया। इस फ्लाइट में 182 यात्री सवार थे। सभी यात्रिओं के चढ़ने के बाद जब पायलट ने फ्लाइट को टेकऑफ करने के लिए रनवे पर लेकर आया तब उसे ध्यान आया कि फ्लाइट का फ्यूल टैंक भरा ही नहीं है। इसलिए फ्लाइट में फ्यूल भरने के लिए उसने फ्लाइट को रनवे से वापस लिया।
 
 
नवे से फ्लाइट को वापस लौटता देख यात्री काफी परेशान हो गए। डरे बैठे यात्रियों को क्रू मेंबर्स ने शांत कराया इसके बाद फ्लाइट में फ्यूल भरा गया। फ्लाइट अपने टाइम से 2 घंटे और 12 मिनट के देरी से टेकऑफ किया।
 

यह भी जाने: “सऊदी पर लगातार हमला करने वाले हौथियों का जल्द होगा विनाश” : यमन पीएम

यमन के प्रधान मंत्री अहमद आबिद बिन दगर ने शुक्रवार को कहा कि हौथी विद्रोहियों ने अपनी अधिकांश ताकत खो दी है और कहा है कि “इसका खात्मा बहुत जल्द है और अनिवार्य है.” यमन के प्रधानमंत्री ने उन लोगों को बुलाकर यह बात कही जो उनके द्वारा गलत रास्ते पर जा रहे है और जो हौथियों का समर्थन करते हैं.

अल अरेबिया के मुताबिक, उन्होंने हौथी विद्रोहियों की विचारधारा का जिक्र करते हुए कि यमनी लोग “शासन करने के दिव्य अधिकारों कों स्वीकार नहीं करेंगे.”
आधिकारिक यमेनी समाचार एजेंसी के मुताबिक, यह यमन की सेना द्वारा हासिल की गई क्षेत्र की जीत पर चर्चा करने के लिए बेदा, सलेह अल-रसास के गवर्नर के साथ एक टेलीफोन वार्तालाप के दौरान हुआ, जो अरब गठबंधन द्वारा समर्थित ईरान समर्थित हौथी मिलिशिया के पूरे प्रांत का क्घात्मा करने के लिए एकजुट है. वह हौथियों की किसी भी गतिविधि को कामयाब होने नहीं देते. जब जब हौथी सऊदी पर यमन पर हमले करते है तब तब अरब गठबंधन सेना उन्हें उनकी मिसाइलों को रोक कर उन्हें नष्ट कर देती है.


Like it? Share with your friends!

0
user

0 Comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *