आपको फ़्लाइट में नही बैठने दिया जाएगा अगर पड़ गया इसमें नाम, फ़्लाइट के लिए नयी नियम जारी


0

मुंबई का एक शख्स अब अगले 5 साल तक फ्लाइट में सफर नहीं कर सकेगा। दरअसल इस शख्स को नो फ्लाई लिस्ट (NFL) में डाल दिया गया है। 8 माह पहले ही NFL पर काम शुरू हुआ था। इसके बाद पहली बार किसी कंपनी ने यात्री को अपनी फ्लाइट में सफर के लिए बैन किया है। यह बैन जेट एयरवेज ने 5 सालों के लिए लगाया है। हम बता रहे हैं कौन सी गलती के कारण इस शख्स को बैन किया गया। यदि आप भी ऐसा करते हैं तो आपका नाम भी NFL में एयर कंपनी डाल सकती है।

क्यों डाला NFL में नाम
मुंबई के बिरजू किशोर सल्ला ने पिछले साल जेट एयरवेज की फ्लाइट में प्लेन हाइजैक का एक झूठा मैसेज छोड़ा था। बिरजू ने अपनी बिजनेस क्लास यात्रा के दौरान विमान के टॉयलेट में हाइजैक का मैसेज छोड़ा था। इसके बाद विमान को अहमदाबाद डायवर्ट करना पड़ा था। जांच के बाद पता चला कि यह महज एक अफवाह है। इसी के बाद जेट एयरवेज ने 5 सालों के लिए बिरजू पर फ्लाइट में यात्रा करने पर बैन लगाया है।

क्या दूसरी कंपनी की फ्लाइट में भी नहीं कर सकेगा सफर…

  • – जिस कंपनी ने बैन लगाया है, उसकी किसी भी फ्लाइट में संबंधित व्यक्ति प्रतिबंधित पीरियड तक सफर नहीं कर सकेगा। दूसरी एयर कंपनियां इस बैन को मानें यह उनके लिए जरूरी नहीं। उन्हें इसका निर्णय खुद लेना है।

 

  • – सल्ला को हाइऐस्ट लेवल (थ्री) के तहत बैन किया गया है। इस लेवल पर दो साल से लेकर आजीवन यात्रा तक पर प्रतिबंध लगाया जा सकता है। इस लेवल को जान से मारने की धमकी में रखा जाता है।

 

  • – सेकंड लेवल का बैन फिजिकली एब्यूसिव बिहेवियर के लिए लगाया जाता है। इसमें किसी को टच करना, सेक्शुअल हैरासमेंट जैसी चीजें आती हैं। इसमें 6 महीने तक के बैन का प्रोविजन है।

 

  • – फर्स्ट लेवल अनियंत्रित बिहेवियर पर लगता है। जैसे किसी को घूरकर देखना, इशारे करना आदि।

Like it? Share with your friends!

0
user

0 Comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *