जल बोर्ड ने सीवर शुल्क पर लिया अहम फैसला, दिल्ली सरकार से मंजूरी मिली तो निवासियों को होगी परेशानी

1 min


1

सीवर का वार्षिक शुल्क आने का अंदेशा

बिजली बिल के साथ ही सीवर का वार्षिक शुल्क आने का अंदेशा बढ़ते जा रहा है। दिल्ली जल बोर्ड ने बताया कि चाहे आपके घर में सीवर का कनेक्शन हो या नहीं हो सालाना सीवेज शुल्क देना होगा। अब सिर्फ दिल्ली सरकार के कैबिनेट से मंजूरी का इंतज़ार किया जा रहा है।

बिजली वितरण कंपनियां के द्वारा वसूला जाएगा सीवर शुल्क

बता दें कि ये शुल्क बिजली वितरण कंपनियां के द्वारा अप्रैल में वसूला जाएगा। अभी सिर्फ पानी के कनेक्शन वाले घरों से ही सीवर शुल्क लिया जाता है और इनसे मिले पैसों का उपयोग सीवेज नेटवर्क के रखरखाव और विकासके लिए किया जाता है। यह भी देखने को मिला है कि दिल्ली में सीवर कनेक्शन में 32 फ़ीसदी की बढ़ोतरी हुई है।

इतना करना होगा भुगतान

शुल्क वसूलने की प्रक्रिया की बात करें तो जल बोर्ड ने कॉलोनियों को 8 श्रेणियों में विभाजित किया है। बता दें कि आवासीय कॉलोनियों को ए, बी, सी, डी, ई, एफ, जी, और एच श्रेणी में विभाजित किया है। साथ ही ए, बी श्रेणी को 5 हजार, सी श्रेणी को 2 हजार, डी श्रेणी को 1 हजार, ई, एफ श्रेणी को 200 रुपए, जी, एच श्रेणी को 100 रूपए का भुगतान करना होगा।


Like it? Share with your friends!

1
Satyam Kumari

0 Comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *