Wednesday, December 1

Bihar

सस्ती हवाई यात्रा करने का शानदार मौका, मात्र 915 रूपए में टिकट बुक कराने का ऑफर
Bihar, Delhi, National, Travel

सस्ती हवाई यात्रा करने का शानदार मौका, मात्र 915 रूपए में टिकट बुक कराने का ऑफर

आज बस और ट्रेन की यात्रा करना भी काफी महंगा हो गया है। आप अगर किसी अच्छे बस या ट्रेन में अच्छी सीट बुक कराते हैं तो इसके बदले आपको कम से कम हजार रुपए देने पड़ सकते हैं, लेकिन एक शानदार ऑफर सामने आया है, जिसमें आप एक हजार रुपए से कम में भी हवाई यात्रा कर सकते हैं। यह ऑफर इंडिगो के तरफ से दिया जा रहा है।  जिसके तहत आप ₹915 खर्च करके हवाई यात्रा का टिकट बुक करा सकते हैं। सस्ते में टिकट बुक कराने का यह ऑफर 4 अगस्त से 6 अगस्त के लिए है। यानी 6 अगस्त तक ही आप इस ऑफर का लाभ उठा सकते हैं। एयरलाइन कंपनी इंडिगो सस्ती उड़ान सेवा देने के लिए जानी जाती है। इंडिगो ने अपने 15 साल पूरे कर लिए हैं। इसी के उपलक्ष में एक बार फिर से नागरिकों को सस्ती उड़ान का ऑफर दिया जा रहा है इस बात की जानकारी इंडिगो ने खुद ट्वीट करके दी है। जिसमें यह बताया गया है कि आप ₹915 में हवाई यात्रा कर सकते हैं। आप एक सितंबर 2021 स...
अब बिहार के लोग भी चख सकेंगे मलेशिया-थाईलैंड के रसीले फल का स्वाद, 20 रुपये किलो पर बिकना शुरू!
Bihar

अब बिहार के लोग भी चख सकेंगे मलेशिया-थाईलैंड के रसीले फल का स्वाद, 20 रुपये किलो पर बिकना शुरू!

अब बिहार के लोग भी मलेशिया-थाईलैंड में उगने वाले रसीले फल का स्वाद ले सकेंगे। बिहार में सैंकड़ों पौधों में यह फल पककर तैयार भी होने लगा है। जबकि यह फल बाजारों में भी उपलब्ध होने लगा। जिसको खाने का मौका अब आम लोगों को भी मिल रहा है। इस फल का नाम लौगान हैं  जिसकी खेती बड़े पैमाने पर मलेशिया और थाईलैंड में की जाती है।   20 रूपए प्रति किलो फल और 100 रुपये पीस बिक रहा पेड़: जानकारी के अनुसार लौगान फल एक तरह की लीची है। बिहार के मुजफ्फरपुर में इसकी खेती शुरू हुई है। वहां करीब 100 से अधिक पौधों में लौगान फल पककर तैयार भी हो चूका है। जबकि  20 रूपए प्रति किलो के हिसाब से इसकी बिक्री भी शुरू है। वहीं लौगान फल का एक पौधा 100 रुपये प्रति पीस के हिसाब से बेचा जा रहा है। इसका पौधा पांच सालों में फल देने लाइक हो जाता है। इसका फल बहुत मीठा होता है। इस पौधे को लगाने के लिए किसानों को प्...
बिहार में इन मामलों में फैसला आने की संभावना, आज बुलाई गई अहम बैठक!
Bihar

बिहार में इन मामलों में फैसला आने की संभावना, आज बुलाई गई अहम बैठक!

बिहार में कोरोना मामलों काफी कमी आई है। कोरोना की स्थिति का आंकलन करते हुए प्रतिबंधों को धीरे धीरे हटाया जा रहा है। इस क्रम में बुधवार को भी आपदा प्रबंधन समूह की बैठक बुलाई गई है। आगे क्या क्या रियायतें दी जाएंगी, उसपर इसी बैठक के दौरान ही विचार किया जा सकता है। ऐसी संभावना जताई जा रही है कि बैठक के दौरान छोटी कक्षाओं के स्कूलों को खोलने, धार्मिक स्थलों को खोलने और ऑफलाइन पढ़ाई आरंभ करने को लेकर भी मंथन किया जा सकता है।   मालूम हो कि अनलॉक-4 सात जुलाई से शुरू हुआ था जो छह अगस्त तक प्रभावी रहेगा। इस दौरान कोरोना गाइडलाइन्स को पालन करने की शर्तों के साथ 12वीं तक स्कूलों और ऊपर स्तर के कॉलेजों को 50 फीसद उपस्थिति के साथ खोल दिया गया था। वहीं  प्रतियोगिता परीक्षाओं के आयोजन को भी अनुमति भी मिल गई थी। इसके साथ ही सभी कार्यालय भी सामान्य रूप से खोले जा चुके हैं। अब देखना होगा...
अब अपने गांव में भी बनवा सकेंगे जातीय, आवासीय और आय प्रमाण पत्र,?
Bihar

अब अपने गांव में भी बनवा सकेंगे जातीय, आवासीय और आय प्रमाण पत्र,?

अब आप अपने गांव में भी जातीय, आवासीय और आय प्रमाण पत्र बनवा सकेंगे। अब लोगों को इन प्रमाण पत्रों को बनवाने के लिए प्रखंड और अनुमंडल कार्यालय का चक्कर लगाने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी। क्योंकि अब हर पंचायत में आरटीपीएस काउंटर की व्यवस्था कर दी गई है। पंचायतों में मौजूद पंचायत सरकार भवन में आरटीपीएस काउंटर बनाया गया है। जिन पंचायतों में पंचायत सरकार भवन नहीं हैं वहां के मनरेगा या अन्य सरकारी भवन में आरटीपीएस काउंटर का सचांलन होगा। आरटीपीएस काउंटर सुबह 10 बजे से खोल दिए जायेंगे। काउंटर खोलने का समय 10:00 बजे से 12:30 बजे तक एवं 2:00 से 5:00 बजे तक निर्धारित है. पंचायती राज विभाग ने पंचायत में आरटीपीएस काउंटर को चालू करने की अंतिम तिथि 15 अगस्त तय की है। पंचायती राज मंत्री सम्राट चौधरी के अनुसार आरटीपीएस काउंटर के संचालन से जुड़े जरुरी संसाधन भी उपलब्ध करा दिया जा चूका है। विभाग के तरफ से मंगलवार...
बिजली बिल जमा करने को लेकर अच्छी खबर, बिहार के उपभाेक्ताओं को मिलेगी नई सुविधा!
Bihar

बिजली बिल जमा करने को लेकर अच्छी खबर, बिहार के उपभाेक्ताओं को मिलेगी नई सुविधा!

बिहार के बिजली उपभोक्ताओं के लिए अच्छी खबर है। उन्हें एक नई सुविधा मिलने जा रही है। जिसका लाभ कोई भी उपभोक्ता घर बैठे उठा सकते हैं। दरअसल अब बिजली उपभोक्ता मीटर रीडिंग के दौरान ही अपना बिल भी जमा कर सकेंगे। मीटर रीडिंग करने आया कर्मी उनसे बिल की राशि भी मांगेगा। अगर आप चाहे तो उन्हें अपने बिजली बिल देकर तुरंत ऑनलाइन रूप से रसीद भी प्राप्त कर सकते हैं। हालांकि आप खुद से भी ऑनलाइन या ऑफलाइन जाकर बिजली बिल जमा कर सकते हैं। बिजली मीटर रीडिंग के दौरान बिल जमा करने की व्यवस्था ऑप्शनल होगी। इसके लिए आप पर किसी तरह का दबाव नहीं बनाया जा सकता है। इस व्यवस्था की शुरुआत बिहार के शहरी इलाकों में एक अगस्त, 2021 हो गई है। इससे पहले ग्रामीण इलाकों में यह व्यवस्था लागु थी। जिससे ग्रामीण इलाके के लोगों को काफी सहूलित होती थी। क्योंकि आसानी से उनका बिजली बिल भी जमा हो जाता था और उनका समय भी बच जाता...
बिहार बोर्ड से मैट्रिक-इंटर पास करने वाले परीक्षार्थियों के लिए अहम खबर!
Bihar

बिहार बोर्ड से मैट्रिक-इंटर पास करने वाले परीक्षार्थियों के लिए अहम खबर!

Bihar School Examination Board से मैट्रिक-इंटर पास करने वाले परीक्षार्थियों के लिए अहम खबर सामने आई है। मैट्रिक-इंटर पास करने वाले जो छात्र अपने मार्कशीट या सर्टिफिकेट में सुधार करवाना चाहते हैं वो 4 अगस्त से 11 अगस्त के बीच बिहार बोर्ड के प्रमंडलीय कार्यालय में अप्लाई कर सकते हैं। बोर्ड के अनुसार मार्कशीट या सर्टिफिकेट में सुधार के लिए उनके स्कूल प्रधान के संस्तुति अनिवार्य होगी।  बोर्ड के तरफ से कहा गया है कि  2020 के सत्र में मैट्रिक और इंटर की परीक्षा पास करने वाले जिन छात्रों की मार्कशीट में त्रुटि है वो उसमे सुधार करवा सकते हैं। मार्कशीट में सुधार करवाने वाले छात्रों को अपना मार्कशीट, रजिस्ट्रेशन कार्ड, एडमिट कार्ड और एक शपथ बनाकर स्कूल में आवेदन करना होगा। मार्कशीट में सुधार का आवेदन मिलने के बाद स्कूल द्वारा उसकी जांच की जाएगी। जांच के बाद स्कूल द्वारा छात्र को संस्तुति दी जाएगी।...
स्टेशन के अलावा सड़कों पर भी मिलेंगे कुली, अलग होगा उनका काम, होने जा रही है बहाली!
Bihar

स्टेशन के अलावा सड़कों पर भी मिलेंगे कुली, अलग होगा उनका काम, होने जा रही है बहाली!

बिहार में एक बड़ा बदलाव देखने को मिल सकता है। जल्द ही यहां रेलवे या बस स्टेशन के अलावा सड़कों पर कुली नजर आ सकते हैं। सरकार के तरफ से सड़कों की निगरानी के लिए कुली की बहाली भी की जाएगी। बिहार में करीब एक लाख किलोमीटर से अधिक सड़कों की  मरम्मति का काम होने जा रहा है। ग्रामीण कार्य विभाग के अंतर्गत आने वाले इन सड़कों की मरम्मति के कार्य के लिए कर्मियों की आवयश्कता भी होगी। जिनकी बहाली पर विचार किया जा रहा है। इसी क्रम में सड़क कुली या पथ कुली की बहाली भी की जाएगी। दो पंचायतों में औसतन एक पथ कुली की बहाली की सकती है। हालांकि कुछ जगहों पर एक पंचायत में एक कुली की तैनाती भी हो सकती है। 1070 वर्क्स सेक्शन विभाग के अधीन आते हैं। हर सेक्शन में यदि पांच-पांच कुलियों की बहाली होती है तो कुल 5350 कुलियों की बहाली हो सकती है। बताया जा रहा कि पथ कुलियों की सीधी बहाली न होकर आउटसोर्सिंग के माध्यम से होग...
खुद सड़कों पर निकल कर कोविड प्रोटोकॉल के पालन का जायजा ले रहें सीएम!
Bihar

खुद सड़कों पर निकल कर कोविड प्रोटोकॉल के पालन का जायजा ले रहें सीएम!

कोरोना की दूसरी लहर का प्रकोप अभी पूरी तरह से समाप्त भी नहीं हुआ है और लोगों ने बिना मास्क के घूमना शुरू कर दिया है। एक तरफ जहां देश में कोरोना की तीसरी लहर की आहट सुनाई दे रही है तो वहीं दूसरी तरफ कई ऐसे लोग हैं जो कोरोना प्रोटोकॉल की धज्जियां उड़ा रहें हैं। शायद इस बात की जानकारी बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को भी मिल गयी है तभी तो उन्होंने खुद सड़कों पर निकल कर कोविड प्रोटोकॉल का जायजा लेना शुरू कर दिया है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार सीएम यह भी देखना चाहते थे कि लोग मास्क पहन रहें हैं या नहीं। इस क्रम में सीएम नीतीश बिहार के वैशाली पहुंचे जहां उन्होंने इस बात जायजा लिया कि वहां पर कोविड प्रोटोकॉल का पालन हो रहा है या नहीं। कहा जा रहा है कि जल्द सीएम दूसरे जिलों में जाकर कोरोना नियमों का जायजा लेंगे। वहीं वैशाली के बाद सीएम समस्तीपुर, मुजफ्फरपुर, छपरा और सोनपुर होते हुए पटना लौटे...
बिहार की बेटी नीना सिंह बनी राजस्थान पुलिस में पहली महिला निदेशक!
Bihar, rajasthan

बिहार की बेटी नीना सिंह बनी राजस्थान पुलिस में पहली महिला निदेशक!

बिहार की बेटी नीना सिंह राजस्थान पुलिस में पहली महिला निदेशक बनी है। आईपीएस नीना सिंह को राजस्थान सरकार ने एडीजी पद से प्रोन्नति देकर डीजी बनाया है। आपको बता दें कि नीना सिंह पति भी राजस्थान कैडर के आईपीएस अधिकारी हैं। उनका नाम रोहित सिंह है। IPS नीना सिंह मूल रूप से  बिहार के दरभंगा जिले के घनश्यामपुर प्रखंड के गनौन पंचायत की रहने वाली है। आईपीएस नीना सिंह ने अपनी शुरूआती शिक्षा पटना में ग्रहण की। पटना से स्नातक करने के बाद वो उच्च शिक्षा के लिए दिल्ली चली गयीं। उन्होंने दिल्ली स्थित JNU से उच्च शिक्षा हासिल की। आईपीएस नीना सिंह के पिता का नाम स्व गणेश लाल दास हैं। स्व गणेश लाल दास बिहार सरकार में एडीएम पद पर कार्यरत थे। राजस्थान पुलिस में पहली महिला डीजी नियुक्त की गयीं आईपीएस नीना सिंह सीबीआई में भी रह चुकीं हैं। 1989 बैच की आईपीएस अधिकारी नीना सिंह ने सीबीआई में रहते हुए चर्चित ...
इन चार पदों के लिए EVM से होंगे पंचायत चुनाव, जिलास्तर पर छपेंगे बैलेट पेपर!
Bihar, भागलपुर

इन चार पदों के लिए EVM से होंगे पंचायत चुनाव, जिलास्तर पर छपेंगे बैलेट पेपर!

बिहार पंचायत चुनाव की तारीखों का ऐलान जल्द होने की संभावना व्यक्त की जा रही है। लेकिन इससे पहले एक बड़ी अपडेट निकलकर सामने आई है। जिसमें यह कहा जा रहा है कि इस बार पंचायत चुनाव में चार पदों पर वोटिंग के लिए EVM का प्रयोग किया जायेगा। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार मुखिया, ग्राम पंचायत सदस्य, पंचायत समिति सदस्य और जिला परिषद सदस्य के चुनाव के लिए एम-2 EVM का इस्तेमाल किया जायेगा। जबकि EVM में इस्तेमाल किये जाने वाले बैलेट पेपर एवं निविदत्त बैलेट पेपर की छपाई पूरी गोपनीयता और कड़ी सुरक्षा के बीच जिला स्तर पर ही किया जायेगा।  सोमवार को आयोग के सचिव द्वारा सभी जिला पदाधिकारी सह जिला निर्वाचन पदाधिकारी, पंचायत को दिए गए निर्देश के अनुसार प्रत्येक पद हेतु चिन्हित ईवीएम के लिए पांच बैलेट पेपर प्रति बूथ की दर से एवं निविदत्त (टेंडर) बैलेट पेपर हेतु प्रति मतदान केंद्रवार 20 बैलेट पेपर की दर से बैलेट पे...