दुबई से बोनी कपूर ने बताया, आखिर उस रोज होटल के कमरे में क्या हुआ था ?


0

श्रीदेवी की अचानक मौत के बाद बोनी कपूर के परिवार में मातम का माहौल है. श्रीदेवी – बोनी की बेटी जाह्नवी ने एक लंबी चिट्ठी लिखकर अपनी मां के साथ संबंधों का जिक्र किया. बेहद भावुक होकर लिखी गयी इस पत्र में जाह्नवी ने कहा – मैं हर वक्त अपनी मां की मौजूदगी का अहसास करती हूं. जाह्नवी के बाद बोनी कपूर ने भी दुबई के उस होटल में श्रीदेवी के अचनाक निधन को लेकर अपने दर्दभरे अनुभव फिल्म पत्रकार कोमल नाहटा से साझा किया है.

कोमल नाहटा के मुताबिक बोनी ने उन्हें उस मनहूस रात के अनुभव बांटे और कहा – बोनी कपूर और श्रीदेवी अपने भांजे मोहित मारवाह की शादी में शामिल होने गये थे. शादी के बाद बोनी कपूर एक जरूरी मीटिंग को लेकर भारत वापस आ गये. 22 फरवरी को लखनऊ में उनकी एक मीटिंग थी. वहीं श्रीदेवी दुबई में ही रुक गयीं. उन्हें वहां उनकी बेटी जह्नावी ने शापिंग लिस्ट दी थी, जो उनके फोन में था. 21 फरवरी को श्रीदेवी ने शॉपिंग प्लान किया था लेकिन गलती से फोन होटल के कमरे में भूल गयीं. 22 फरवरी को श्रीदेवी ने अपने दोस्तों के साथ चैट कर और होटल में ही आराम कर अपना समय बिताया. श्रीदेवी दो दिन से बोनी कपूर का वापस लौटने का इंतजार कर रही थीं.

इस बीच श्रीदेवी की बेटी जह्वावी ने कहा कि मम्मी होटल में अकेली हैं, वह डर रही होंगी, अपना पार्सपोर्ट और डॉक्यूमेंट भी खो सकती हैं. अपने पुराने दिनों को याद करते हुए बोनी बताते हैं कि शादी के बाद 24 सालों में दो ही मौके आये जब श्रीदेवी मेरे बिना अकेले विदेश दौरे पर गयीं – एक न्यूजर्सी और दूसरा वैनकुवर. बोनी ने बताया कि मैं उनके साथ नहीं था लेकिन उनके दोस्त इस दौरे में मौजूद थीं. 24 तारीख को जब बोनी कपूर दुबई के लिए रवाना हो रहे थे.
करीब साढ़े तीन बजे मुंबई इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर श्रीदेवी का फोन आता है. उस वक्त बोनी कपूर मुंबई इंटरनेशनल एयरपोर्ट के लाउंज एरिया में बैठे थे. बोनी श्रीदेवी को सरप्राइज डिनर पार्टी देना चाहते थे. इसलिए उन्होंने कहा कि अगले दो घटे तक एक मीटिंग में व्यस्त रहेंगे. इसलिए फोन न लगे तो परेशान न हो. बोनी मुंबई से दुबई पहुंचे तो होटल में चेकइन करने के बाद दोनों एक दूसरे से मिले. बोनी और श्रीदेवी इस तरह से गले मिले जैसे कोई टीनएजर्स लव कपल हो. दोनों ने डेढ़ घंटे तक बात की.
फिर दोनों फ्रेश होने के लिए बाथरुम चले गये. चूंकि फ्लाइट की टिकट एक दिन आगे यानी 25 की रात का लिया गया था. इसलिए अब दोनों के पास काफी समय था. श्रीदेवी डिनर की तैयारियों में जुट गयीं और बाथरुम चली गयी. बोनी ने बताया कि मैं लीवींग रूम चला गया और क्रिकेट देखने लगा, श्रीदेवी बाथरुम गयीं. बोनी अफ्रीका – भारत के क्रिकेट मैच सर्फ करने लगे. पांच मिनट बाद बोनी ने सुपर लीग क्रिकेट मैच हाइलाइट देखना शुरू किया. करीब 15-20 मिनट तक ऐसा चला. इस बीच उन्हें लगा कि शनिवार का वक्त है, इसलिए रेस्टोरेंट में भीड़ होगी सो अब निकलना चाहिए. तब रात के आठ बज रहे थे.

बोनी कपूर अधीर हो रहे थे. उन्होंने श्रीदेवी को लिविंग रुम से आवाज दिया. दो बार बुलाने के बाद भी जब श्रीदेवी नहीं सुनी तो  बोनी ने टीवी का साउंड कम किया. फिर भी जवाब नहीं आया. बाथरुम का दरवाजा खटखटाया. …जान, जान कहकर बोनी ने दो बार चिल्लाया. दरवाजा तोड़कर जैसे ही बोनी कपूर ने बाथरुम में प्रवेश किया, जो देखा उससे बोनी कपूर हिल गये. श्रीदेवी सिर से पांव तक डूबी थीं. उनके शरीर में कोई हरकत नहीं था. हालांकि बाथटब भरा हुआ था लेकिन फर्श पर एक बूंद भी पानी नहीं था.
श्रीदेवी डूब चुकी थीं और बोनी कपूर के समझ में नहीं आ रहा था कि यह अचानक से कैसे हुआ.


Like it? Share with your friends!

0
admin

0 Comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *