Breaking News

CORONA Checking

कोरोना की तीसरी लहर की खबरों के बीच अलर्ट, इन राज्यों से बिहार आने वालों पर रखी जा रही नजर

हम कोरोना महामारी की दूसरी लहर के प्रकोप से पूरी तरह से बाहर अभी नहीं निकल पाए हैं। ऐसा इसलिए भी कह सकते हैं क्योंकि अभी भी लगातार कोरोना के छिटपुट मामले सामने आ रहे हैं।  इसी बीच कोरोना की तीसरी लहर की बात भी सामने आने लगी है। जिसको लेकर कुछ लोगों का यह कहना है कि यह दूसरी लहर से भी ज्यादा खतरनाक साबित हो सकती है।

आए दिन तीसरी लहर को लेकर मीडिया में कई तरह की खबरें छप रही हैं। जिसको देखते हुए हमे यह संकेत मिल रहा है कि अभी हमें पूरी तरह से सतर्क रहने की जरूरत है। इसी बीच बिहार में भी कोरोना की तीसरी लहर की बातें की जाने लगी है। कोरोना के तीसरी लहर की आहट को देखते हुए पूर्वोत्तर राज्यों और केरल से आने वाले लोगों पर कड़ी नजर रखी जा रही है।

मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो इन राज्यों से आने वाले यात्रियों पर रेलवे स्टेशन के अलावा बस स्टैंड और एयरपोर्ट पर भी अलर्ट जारी किया गया है। इन राज्यों से आने वाले लोगों की जांच शुरू की जाने की कवायद को तेज कर दी गई है। वही यह भी कहा जा रहा है कि जो केरल से आ रहे हैं उन से यह अपील की जा रही है कि वह 7 दिन कम से कम होम आइसोलेशन में रहेंगे।

खबरों की माने तो पूर्वोत्तर राज्यों के साथ-साथ केरल में भी कोरोना वायरस के केस में बढ़ोतरी देखी जा रही है। इसके अलावा दिल्ली-मुंबई और उत्तराखंड में भी कोरोना के मामलें बढ़ रहें हैं। ऐसे में अब बिहार की राजधानी पटना में भी अलर्ट किया गया है ताकि इन इलाकों से आने वाले लोगों की पहचान की जा सके। ऐसा कहा जा रहा है कि जल्द ही इन जगहों से आने वाले यात्रियों को एंटी जन कीट से जांच की जाएगी साथ ही उनके नमूनों को आरटीपीसीआर जांच के के लिए भी भेजा जाएगा।

वहीं इस जांच में अगर कोई व्यक्ति पॉजिटिव पाया जाता है तो कांटेक्ट ट्रेसिंग के सभी नमूने जीनोम सीक्वेंसिंग के लिए पटना एम्स को भेजा जायेगा। इस मामले में पटना की सिविल सर्जन डॉक्टर विभा कुमारी का यह कहना है कि कोरोना के जांच कर रही सर्वे टीमों से यह कहा गया है कि विशेष निगरानी बरतें। सैंपल लिए जाए और दूसरे राज्यों खासकर केरल से आने वाले लोगों एक सप्ताह तक होम आइसोलेशन में रहने की सलाह दी जाए।

इसके साथ ही उन्होंने आम लोगों से यह कहा है कि प्रभावित इलाकों से आने वाले लोग अगर उनके आसपास हैं तो उनकी सूचना तुरंत कंट्रोल रूम को दें। सिविल सर्जन का यह भी कहना है कि कोरोना को लेकर सिस्टम पूरी तरह से अलर्ट मोड पर है और विशेष तौर पर निगरानी रखी जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: