155 CC से ज़्यादा का BIKE ख़रीदने से पहले देना होगा एफिडेविट, DL भी 3 साल चाहिए पुराना

1 min


0
  • – स्टंटबाजों पर लगेगी लगाम, पॉवर बाइक खरीदने से पहले देना होगा एफिडेविट
  • – डीएल 3 साल पुराना तभी खरीद पाएंगे पावर बाइक
  • – लोगों की जान के दुश्मन बने स्टंटबाज बाइकर गैंग पर लगाम लगाने के लिए पुलिस प्रशासन ने किए तगड़े इंतजाम
  • -स्टंट प्वाइंट्स पर लगेंगे स्टेबल स्पीड राडार, ओवरस्पीड पर होगा भारी जुर्माना, तीन बार नियम तोड़ने पर जब्त होगा डीएल

 

KANPUR : सड़क पर लोगों की जान के दुश्मन बने बाइकर्स स्टंटबाजों पर लगाम लगाने के लिए कवायद शुरू हो गई है। अब अगर आपको पॉवर बाइक खरीदनी है तो पहले एफिडेविट में लिखकर देना होगा कि कभी भी स्टंट नहीं करेंगे। निर्धारित से अधिक स्पीड पर गाड़ी नहीं चलाएंगे और ट्रैफिक रूल्स फॉलो करेंगे। एफिडेविट के साथ एक बांड भी भरना होगा। एफिडेविट का उल्लंघन करने पर जिसे जब्त कर लिया जाएगा और कानूनी कार्रवाई भी होगी। वहीं तीन साल पुराना ड्राइविंग लाइसेंस होने पर ही पॉवर बाइक खरीद सकेंगे।

 

डीआईजी ने भ्ोजा प्रस्ताव

बाइकर्स के स्टंट से लगातार हो रही मौतों से पुलिस प्रशासन जाग गया है। शहर में स्टंट के लिए बदनाम रोड्स पर ‘स्टेबल स्पीड राडार’ लगाए जाएंगे। फ्राइडे को डीआईजी ने डीजी ऑफिस को यह प्रस्ताव भेजा है। उम्मीद है कि जल्द ही प्रस्ताव को मंजूरी मिल जाएगी। इसके बाद चिन्हित स्थानों पर सेफ प्लेस देखकर स्टेबल स्पीड राडार लगाया जाएगा। निर्धारित स्पीड पार करते ही राडार से पकड़ लेगा। जिसके बाद भारी जुर्माना भुगतना पड़ेगा। साथ ही इन स्थानों पर जगह-जगह रम्बल स्ट्रिप लगाई जाएंगी, जिससे बाइकें तेज न दौड़ सकें।

 

ऐसे काम करेगा ‘स्टेबल स्पीड रडार’

स्पीड राडार में मेल और फीमेल इंसट्रूमेंट होगा। मेल इंसट्रूमेंट को सड़क शुरू होने पर तो फीमेल इंसट्रूमेंट को सड़क खत्म होने के कुछ पहले लगाया जाएगा। इस राडार में स्पीडोमीटर रीडिंग एबिलिटी होगी। 40 किमी प्रतिघंटा से ज्यादा रफ्तार होने पर स्पीड रीड कर राडार साथ लगे कैमरे को इंडिकेट करेगा और वाहन की नंबर प्लेट की तस्वीर के साथ चालान ऑनलाइन हो जाएगा। इसे मैनुअली संबंधित थानाक्षेत्र की पुलिस भी अपने ऑफिस में देख सकेगी। घर पहुंचने से पहले बाइक का मुआवजा कब और कहां जमा करना है। इसकी जानकारी बाइक ओनर के मोबाइल फोन पर आ जाएगी।

 

फिर भी न माना तो DL कैंसिल

डीआईजी डॉ। प्रीतिंदर सिंह ने बताया कि इन स्पीड राडार का आउटपुट एसपी ट्रैफिक हर महीने करेंगे। तीन बार अगर एक ही गाड़ी नंबर का ओवरस्पीड में चालान हुआ तो वाहन चालक का ड्राइविंग लाइसेंस जमा हो जाएगा। जिसे तीन गुना जुर्माना देने के बाद ही छोड़ा जाएगा। इसके बाद भी अगर वह नियम तोड़ता है तो उसका ड्राइविंग लाइसेंस कैंसिल कर दिया जाएगा।

 

इन स्थानों पर लगेगा स्पीड रडार

गंगा बैराज, भौंती रूमा फ्लाई ओवर, स्वरूप नगर, वीआईपी रोड, संजय वन रोड पर स्टेबल स्पीड राडार लगाए जाएंगे। इन राडार की देख रेख की जिम्मेदारी थाना पुलिस की होगी। इन राडार के आसपास लगे कैमरों की निगरानी भी थाना पुलिस करेगी।

 

तीन सेकेंड में 60 की रफ्तार

जिस पावर बाइक ने वेडनसडे शाम स्टंट करते हुए दो लोगों की जान ली थी उसकी कीमत पौने दो लाख रुपये है। 155 सीसी के इंजन वाली इस बाइक का पिकअप बहुत हाई होता है। यह चंद सेकेंड में ही ये हवा से बातें करने लगती है। 60 किमी की रफ्तार पकड़ने में केवल तीन सेकेंड लगते हैं। 7 सेकेंड में बाइक 100 की रफ्तार पकड़ लेती है।

स्टंट करने वाले इन पर लगाते हैं दांव

स्टंट, कलाबाजी, अचानक ब्रेक लगाना, कट मारना, फुल स्पीड गियर लेना, हवा से बातें करने का लगता दांव

शहर में पॉवर बाइक्स की संख्या

तीन लाख से ज्यादा की कीमत की : 28

एक से डेढ़ लाख की कीमत की : 28000

ओवरस्पीड में जुर्माना : 2200 रुपये

स्टंट रोकने के लिए स्टेबल स्पीड राडार लगाए जाने की योजना है। प्रस्ताव शासन को भेजा गया है। किसी भी हालत में बाइकर्स को स्टंट नहीं करने दिया जाएगा।


Like it? Share with your friends!

0
Digital Desk

0 Comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: