Monday, September 27

साउदी अरब हुआ बैन, नए प्रधानमंत्री के बनने के साथ ही लागू हो गया नया बैन


पाकिस्तान ने घोषणा की है कि उसके करीबी सहयोगी सऊदी अरब 50 अरब डॉलर चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारे में शामिल नहीं होंगे और व्यपरिक समझौते से भी बैन किया हैं. इस्लामाबाद के कुछ दिन बाद रियाद चीन की प्रमुख परियोजना, बेल्ट और रोड का तीसरा “रणनीतिक साझेदार” घोषित किया था.
 
 
डॉन की रिपोर्ट के मुताबिक, सीपीईसी बहु-अरब डॉलर बेल्ट और रोड इनिशिएटिव (बीआरआई) की प्रमुख परियोजना है, जो कि राष्ट्रपति शी जिनपिंग की एक घरेलु परियोजना है जिसका लक्ष्य चीन-वित्त पोषित आधारभूत संरचना परियोजनाओं के माध्यम से दुनिया भर में चीन के प्रभाव को बढ़ाने के लिए है.

योजना और विकास मंत्री खुसरो बख्तियार ने मंगलवार को मीडिया को बताया कि नकद समृद्ध सऊदी के प्रस्तावित निवेश अलग द्विपक्षीय व्यवस्था के तहत आ जाएंगे.
उन्होंने कहा कि, “सऊदी अरब सीपीईसी में एक संपार्श्विक रणनीतिक साझेदार बनना नहीं है. यह इंप्रेशन सच नहीं है.” आपको बता दें की पिछले महीने, सूचना मंत्री फवाद चौधरी ने कहा कि प्रधान मंत्री इमरान खान सऊदी की पहली विदेश यात्रा से लौटने के तुरंत बाद सऊदी अरब सीपीईसी का तीसरा “रणनीतिक साझेदार” की घोषणा की थी.
 
एक बार ग़ौर से पढ़े:

उन्होंने कहा कि, “सऊदी अरब सीपीईसी में एक संपार्श्विक रणनीतिक साझेदार बनना नहीं है. यह इंप्रेशन सच नहीं है.” आपको बता दें की पिछले महीने, सूचना मंत्री फवाद चौधरी ने कहा कि प्रधान मंत्री इमरान खान सऊदी की पहली विदेश यात्रा से लौटने के तुरंत बाद सऊदी अरब सीपीईसी का तीसरा “रणनीतिक साझेदार” की घोषणा की थी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: