0

सऊदी: विवाहेतर संबंध को लेकर भारत भी सख्त हो गया है. क्या आपको यह पता है भारत के अलावा सऊदी अरब, पाकिस्तान और सोमालिया समेत कई मुस्लिम देशों में विवाहेतर संबंध न सिर्फ अपराध की श्रेणी में है. इतना ही नहीं इन देशों में तो वहां इसके लिए गंभीर सजा का प्रावधान भी है. आइये हम आपको अलग अलग देशों में इस अपराध की सजा के बारे में बताते हैं.

सऊदी अरब: सऊदी अरब विवाहेतर संबंध बनाने पर पत्थर मार-मारकर जान से मारने की सजा दी जाती है.

पाकिस्तान: पाकिस्तान में ऐसे मामलों को दो श्रेणियों में बांटा जाता है. गंभीर अपराध के लिए पत्थर मार-मारकर मारने या 100 कोड़े सार्वजनिक रूप से मारने का प्रावधान है. दूसरे मामले में दस साल तक जेल की सजा

सोमालिया: पत्थर मार-मारकर मारने की सजा

अफगानिस्तान: सार्वजनिक रूप से 100 कोड़े मारने का प्रावधान

मिस्र: महिलाओं को 2 साल तक जेल की सजा और पुरुष को छह महीने तक जेल की सजा

ईरान: फांसी की सजा

तुर्की: 1996 में इसे अपराध की श्रेणी से बाहर कर दिया गया

अमेरिका के 21 राज्यों में विवाहेतर संबंध अवैध है. सजा के तौर पर जुर्माना लिया जा सकता है या फिर आजीवन कारावास की सजा हो सकती है

ताइवान में विवाहेतर संबंध अपराध माना जाता है और वहां इसके लिए एक साल जेल की सजा का प्रावधान है.

हालांकि यूरोप, लैटिन अमेरिका के देश, एशिया के कई देश और ऑस्ट्रेलिया में विवाहेतर संबंध अपराध नहीं है.



Like it? Share with your friends!

0
user

0 Comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: