0

बुरेदाह – सऊदी में पिछले कई सालों से आये दिन बड़ी तादाद में सऊदी की सड़कों पर एक्सीडेंट होते रहते है. मोटरसाइकिल और यात्री पिछले वर्षों में यातायात दुर्घटनाओं की संख्या में वृद्धि के कारण कसिम-हेल-अल-जौफ अंतर्राष्ट्रीय सड़क से डरते हैं क्योंकि लोग मानते हैं कि जो लोग सड़क में प्रवेश कर चुके हैं वह मौत के घाट उतर जाता है.
 
 
सऊदी गेजेट के मुताबिक, सड़क में ईंधन स्टेशनों, आराम करने वाले स्थानों और सेवा केंद्रों के साथ-साथ भोजन और अन्य आवश्यक वस्तुओं को बेचने के लिए दुकानों की कमी है. इस शहर की सड़कों पर दूर-दूर तक कोई दिखाई नहीं देता है. इस सड़क पर गाड़ी चलाना जान जोखिम में डालने जैसा है. ना ही इस अंतरराष्ट्रिय सड़क पर दूर तक कोई दुकाने या पेट्रोल पंप नज़र आते है.
 
 
यहाँ रहने वाले ज्यादातर मोटर चालकों को विशेष रूप से इस बेहद गर्म मौसम में खतरे के बावजूद, आपातकाल के वक़्त के लिए इस्तेमाल करने के लिए डिब्बे में पेट्रोल और डीजल ले जाने के लिए मजबूर होना पड़ता है.
 
 
कासिम और दोमन अल-जंदल के बीच 630 किलोमीटर की सड़क में ऊंटों और अन्य मवेशियों को सड़क पार करने से रोकने के लिए दोनों तरफ बाड़ जैसे सुरक्षा उपायों की भी कमी है. पिछले वर्षों में स्ट्रे ऊंटों ने सड़क पर कई घातक दुर्घटनाएं पैदा की हैं.

अरब नामा को मिली जानकारी के मुताबिक, कसिम-हेल-अल-जौफ अंतर्राष्ट्रीय सड़क बहुत ज्यादा घुमाऊदार है , ना ही यहाँ स्ट्रीट लाइट है इसिलए रात के वक़्त यहाँ की सड़कों पर सन्नाटा छाय रहता है. जिसकी वजह से कई दुर्घटनाए होती रहती है.
 
 
खलाफ अल-अफान ने सड़क को अत्यंत खतरनाक बताया है. “जो लोग इस सड़क में प्रवेश करते है उन्हें लगता है कि वह बाकी दुनिया से अलग है. लोगों को लगता है कि अगर उन्हें कुछ हो गया तो वह मदद के लिए किसी क नहीं बुला सकते क्योंकि यहाँ दूर-दूर तक कोई दिखाई नाही देता.”


Like it? Share with your friends!

0
user

0 Comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: