सऊदी अरब के बाद ओमान में भी बाहरी लोगों की नौकरीयां खतरे में, यह है बड़ी वज़ह!

1 min


0

जिस तरह सऊदी अरब से प्रवासियों को निकाला जा रहा है और सिर्फ सऊदी नागरिकों को ही नौकरी पर रखा जा रहा है। सऊदी में विज़न 2030 के तहत सऊदीकरण किया जा रहा है इसका मतलब यह है की सऊदी में अब प्रवासियों की बजाए सऊदी नागरिकों को नौकरी दी जाएगी।
इसी तरह ओमान में भी ओमानीकरण किया जा रहा है, जिसके तहत ओमान में प्रवासियों को हटाकर ओमान नागरिकों को नौकरी दी जा रही है।
स्थानीय दैनिक टाइम्स ऑफ ओमान ने बताया कि जनशक्ति मंत्रालय (एमओएम) की एक घोषणा के मुताबिक स्थानीय लोगों के बीच उच्च बेरोजगारी संख्या को कम करने के उद्देश्य से 26,000 से ज्यादा ओमानियों को देश की प्रमुख भर्ती अभियान के हिस्से के रूप में नौकरियां मिली हैं।
ओमान के जनशक्ति मंत्रालय (एमओएम) ने खुलासा किया कि 26,103 नागरिकों को ओमान की निजी और सार्वजनिक क्षेत्रों नौकरियां दी गयी है।
इस घोषणा के मुताबिक, दिसम्बर में ओमान ने प्रवासियों को निकालना शुरू किया था। इस पहल के शुरू होने के बाद से 8,447 महिलाओं और 17,656 पुरुषों को नौकरिया दी गयी है।
अरब न्यूज़ के मुताबिक, ओमान में 4.5 मिलियन लोग रहते हैं, जिनमें से 2.4 मिलियन ओमानी हैं। बाकी के लोग प्रवासी है। ओमानीकरण ड्राइव अपने नागरिकों की भर्ती के लिए सरकार की पहेल का हिस्सा है।
जिस तरह सऊदी अरब और कुवैत जैसे देश रोज़गार में स्थानीय लोगों की संख्या में वृद्धि करने की कोशिश कर रहे हैं। अब ओमान भी इस पहल में पूरी तरह शामिल हो चुका है।
इस साल की शुरुआत में, ओमान में प्त्रवासी श्रमिकों को मीडिया, इंजीनियरिंग, विपणन और बिक्री, लेखा और वित्त, आईटी, बीमा, तकनीशियनों, प्रशासन और मानव संसाधन सहित 87 उद्योगों में छह महीने के वीजा प्रतिबंध का सामना किया है।
ओमान सरकार ने पिछले महीने घोषणा की थी कि यह प्रतिबंध लागू रहेगा और ओमान में प्रवासियों पहले ओमान नागरिकों को नौकरी पर रखा जाएगा।


Like it? Share with your friends!

0
user

0 Comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *