श्रावणी मेला को तैयार हुआ भागलपुर का नया ट्रैफिक प्लान। रूट को किया डाइ'वर्ट

1 min


0

श्रावणी मेला में ट्रैफिक प्लान और सुरक्षा तैयारी को लेकर प्रस्ताव तैयार किया गया है । श्रावणी मेला के दौरान नेपाल और उत्तर-पूर्व भारत के कांवरिया वाहनों की शहर में नो इंट्री रहेगी। विक्रमशिला पुल से बायपास के रास्ते वाहन सुल्तानगंज जाएगा और देवघर से लौटने के दौरान भी बायपास के रास्ते ही पुल की ओर जाएगा। एसएसपी ने श्रावणी मेला के लिए ट्रैफिक प्लान तैयार कर लिया है। बरारी गंगा घाट से जल उठाने वाले कांवरियों को भी बायपास के रास्ते मोड़ने की तैयारी है, लेकिन अभी इसपर थानेदारों से सुझाव मांगा गया है। बायपास के 16 किमी संभावित खतरे वाले स्पॉट को भी चिह्नित किया गया है। वहां पर सुरक्षा का इंतजाम किया जाएगा। श्रावणी मेला के दौरान नेपाल, असम, बंगाल, अरुणाचल, सिक्किम व बिहार के कोसी और सीमांचल से प्रत्येक दिन सैकड़ों कांवरिया वाहन सुल्तागंज की ओर जाते और लौटते थे। जाम के कारण कांवरियों को काफी परेशानी होती थी, लेकिन बायपास के चालू होने से बिना जाम में फंसे कांवरिया वाहन सुल्तानगंज में प्रवेश कर जाएगा।

हालांकि पूर्वोत्तर भारत के कांवरिया वाहनों का छिटपुट चलना शुरू हो गया है। कांवरिया वाहनों की सुरक्षा और ट्रैफिक कंट्रोल के लिए एप्रोच पथ पर पुलिस की तैनाती करने की योजना तैयार की गई है। एसएसपी ने फिलहाल संबंधित एप्रोच पथ पर थाना से ट्रैफिक कंट्रोल के लिए पुलिस की डयूटी लगाई है। सुरक्षा के लिए हाइवे पेट्रोलिंग की व्यवस्था भी की गई है, लेकिन श्रावणी मेला में 24 घंटे पुलिस गश्त तेज करने की योजना तैयार की गई है। अगले सप्ताह श्रावणी मेला की तैयारी को लेकर पटना में समीक्षा होगी। बायपास से सटे दर्जनों गांवों के लिए एप्रोच पथ बनाया गया है। यहां पर दुर्घटना की आशंका जताई गई है। बायपास से सटे बंशीटीकर, जीछो, लोदीपुर मुख्य सड़क, खुटाहा, तीन पुलिया, दरियापुर और नाथनगर दोगच्छी आदि स्पॉट चिह्नित किए गए हैं। इन स्थानों पर आए दिन दुर्घटनाएं हो रही हैं। श्रावणी मेला के पहले बायपास का उद्घाटन होगा। श्रावणी मेला और सड़क के उद्घाटन के बाद 24 घंटे वाहनों का परिचालन होगा।

बायपास के किनारे कई दुकानें बनाई गई हैं और श्रावणी मेला को लेकर दुकानें तैयार की जा रही हैं। ट्रैफिक कंट्रोल और दुर्घटना रोकने के लिए सड़क से 20 फीट दूर दुकान बनाने का निर्देश दिया गया है। कई दुकानें सड़क से सटाकर बनाई गई हैं। उद्घाटन के पहले इन तमाम दुकानों को हटाया जाएगा। संबंधित थानेदार को इसके लिए निर्देश दिया गया है। श्रावणी मेला में ट्रैफिक कंट्रोल के लिए अतिरिक्त पुलिस बल की मांग की गई है। ट्रैफिक डीएसपी आरके झा ने कहा कि जगदीशपुर के मखना पुल के पास सड़क संकरी है। वहां पर जाम की समस्या उत्पन्न हो रही है। वहां पर पुलिस की तैनाती की गई है। वर्तमान में 70 पुलिसकर्मी है, लेकिन एक सौ अतिरिक्त पुलिस की मांग की गई है। इसके अलावा श्रावाणी मेला की सुरक्षा के लिए पांच सौ पुलिसकर्मियों और अफसरों की मुख्यालय से मांग की गई है। भागलपुर के एसएसपी आशीष भारती ने बताया कि श्रावणी मेला में विक्रमशिला पुल के रास्ते आनेवाले कांवरिया वाहन की शहर में नो इंट्री रहेगी। ट्रैफिक प्लान और सुरक्षा तैयारी को लेकर प्रस्ताव तैयार किया गया है।


Like it? Share with your friends!

0
admin

0 Comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *