0

दक्षिण कश्मीर के पुलवामा में सेना के जवानों को शनिवार को बड़ी सफलता हाथ लगी. मुठभेड़ में सेना के जवानों ने तीन आतंकवादियों को गिराया. हालांकि इस कार्रवाई में सेना का एक जवान भी शहीद हो गया जबकि दो अन्य जवानों की हालत गंभीर है.

सेना के जवानों को आतंकवादियों के खिलाफ कार्रवाई करने में जितनी परेशानी नहीं हुई, उतनी आतंकियों के मारे जाने के बाद हुई. मुठभेड तो 25 मिनट में खत्म हो गई, लेकिन सुरक्षाबल तब मुश्किल में पड़ गए जब लोगों ने सेना के वाहनों पर चढ़ना शुरू कर दिया. सेना के जवानों ने लोगों को चेतावनी देने के लिए हवा में गोलियां चलायी, लेकिन उससे भी उग्र भीड़ नहीं रुकी. तब सुरक्षाबलों को उन पर गोलियां चलानी पड़ी. घटना में सात आम नागरिकों की मौत हो गई और दर्जनों अन्य घायल हो गए जिनमें एक युवक की हालत गंभीर बताई जा रही है.
 
घटना के बाद बढ़ते तनाव को देखते हुए अधिकारियों ने श्रीनगर सहित कश्मीर के अधिकतर इलाकों में इंटरनेट सेवा बंद कर दिया. पुलिस अधिकारियों ने बताया कि यह घटना सुबह सिर्नू गांव में हुई जब सुरक्षाबलों ने सेना से भागे हुए जहूर अहमद ठोकेर समेत तीन आतंकवादियों की मौजूदगी की खुफिया खबरों के आधार पर इलाके की घेराबंदी कर दी. उन्होंने बताया कि जैसे ही ठोकेर के मुठभेड़ में फंसे होने के बारे में खबरें फैली, लोगों ने मुठभेड़ स्थल पर एकत्र शुरू कर दिया. ठोकेर इसी गांव का रहने वाला था.

सेना का भगोड़ा है मारा गया आतंकवादी ठोकेर
ठोकेर पिछले साल जुलाई में उत्तर कश्मीर के बारामूला जिले के गंटमुल्ला इलाके में सेना की इकाई से लापता हो गया था. वह अपनी सरकारी राइफल और तीन मैगजीन के साथ फरार हो गया था तथा आतंकवादी संगठन में शामिल हो गया था. सुरक्षाबलों ने कहा कि वह पुलवामा जिले में कई हत्याओं में शामिल था।
 
अलगाववादियों ने तीन दिन की हड़ताल आहूत की कश्मीर में अलगाववादियों ने पुलवामा जिले में एक मुठभेड़ के दौरान सुरक्षा बलों की कार्रवाई में सात नागरिकों के मारे जाने के खिलाफ शनिवार को तीन दिन की हड़ताल आहूत की.ज्वाइंट रेजिसटेंस लीडरशिप (जेआरएल) के बैनर तले अलगाववादियों ने लोगों से कहा कि वे सोमवार को यहां बदामीबाग स्थित सेना के चिनार कोर के मुख्यालय तक मार्च करें. ज्वाइंट रेजिसटेंस लीडरशिप में सैयद अली शाह गिलानी, मीरवाइज उमर फारुक और मोहम्मद यासिन मलिक शामिल हैं।


Like it? Share with your friends!

0
Digital Desk

0 Comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: