रहिये एलर्ट, बंद नंबरों से चल रहा है वाट्सएप, हो सकता है यह नुकसान, ये है सजा का प्रावधान


0

अब लोगों को एलर्ट रहने की जरूरत हैं क्योंकि बंद नम्बरों से व्हाट्सएप चलाये जाने की बात सामने आई है, जिसका गलत इस्तमाल किया जा रहा है. ऐसे नम्बरों पर लोगों के प्रोफाइल पिक चुरा कर वाट्सएप चलाया जा रहा है. जिसकी जानकारी लोगों को नहीं हैं. जो लोगों से एक बड़े ब्लैकमेलिंग के कारण भी बन सकता है.

जबअ ऐसे नंबरों पर कॉल किया जा रहा है, तो पता चल रहा है कि यह नंबर बंद पड़ा है. यानी की नंबर बंद और वाट्सएप ऑन. इसके ठगी का शिकार भी हो रहे हैं. खासकर महिलाओं के प्राेफाइल पिक्चर का इस्तेमाल ऐसे नंबर पर किया जा रहा है, जो बंद पड़ा है. लड़के बंद नंबरों पर वाट्सएप चला लड़कियों को अपने जाल में भी फंसा रहे हैं. लड़कियां जब उनके चंगुल में फंस जाती हैं, तो नंबरों पर काॅल मिलाने की कोशिश करती हैं, पर वह नंबर बंद बताता है. इससे कॉल डिटेल निकालने में बड़ी परेशानी का सामना करना पड़ता है.

सुशील कुमार एएसपी साइबर क्राइम सेल बिहार की माने तो अधिक तो नहीं, पर हाल के दिनों में ऐसी घटनाएं हो रही है. इससे बचने के लिए पहले तो इंटरनेट यूजर्स को ऑथेंसिटी का ध्यान रखने की जरूरत है. पर घटना हो जाने पर तुरंत थमिकी दर्ज कराएं. साइबर सेल उसे टेक्निकली कंसर्न कंपनियों के सहयोग से ट्रेस कर मामले में कार्रवाई करती है.

वाट्सएप में आपकी सारी पर्सनल चैट्स होती हैं जो फोन के चोरी होने या खोने से गलत हाथों मे जा सकती है. इसी के चलते हम आपको आपके वाट्सएप अकाउंट को डिलीट और डिसेबल कर अपने सिक्रेट को सुरक्षित कर सकते हैं. फोन चोरी होने के बाद वाट्सएप अकाउंट को डिसेबल कर दें. इसके लिए अपने मोबाइल के वाट्सएप फीचर के सेटिंग में जाकर ट्रू फैक्टर ऑथेंटिफिकेशन इस्टॉल करें.

ये हैं सजा के प्रावधान:
आईटी एक्ट की धारा 66 सी के तहत साइबर क्राइम में कम से कम तीन साल की सजा का प्रावधान है.
– 66 ए के तहत गलत मैसेज या फर्जी तरीके से कॉल करने पर तीन साल की सजा.
– आईपीसी की धारा 429 के तहत गलत पहचान बता धोखा करने पर दो साल की सजा.
– धारा 420 के तहत धोखाधड़ी के आरोप में सात साल की सजा का प्रावधान.

वाट्सएप एक ऐसा फीचर है. जिसे ‘स्विच्ड ऑफ’ नंबर से भी चलाया जा सकता है. इसके लिए बस एक बार किसी चालू नंबर से वेरिफिकेशन कराना होता. क्योंकि व्हाट्सएप का नंबर सिर्फ डिसप्ले का नंबर होता है. इसे इंस्टॉल करने के बाद मांगे गये नंबर पर एसएमएस में एक कोड आता है. उसको वेरिफाई करने के बाद उस नंबर को बंद कर देंगे, तब भी वाट्सएप चलता रहेगा. नंबर वेरिफिकेशन के बाद वाट्सएप यह नहीं देखता कि नंबर चालू है या नहीं. इसका सब्जेक्ट में लॉस्ट या स्टोलेन: प्लीज डिएक्टिवेट माई अकाउंट लिखकर मेल करें.
INPUT:PKM


Like it? Share with your friends!

0
admin

0 Comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *