Saturday, October 23

'मम्मी तुमने मेरे लिए जो कपड़े खरीदे हैं, वो गरीब को दे देना…' और फिर बेटी ने…

मध्यप्रदेश के इछावर के पास एक गांव में BA की छात्रा ने फंदे से लटककर खुदकुशी कर ली। लड़की के पास से एक पन्ने का सुसाइड नोट भी बरामद हुआ है। जिसमें उसने लिखा है, मम्मी तुमने मेरे लिए जो कपड़े खरीदे हैं, वो गरीब को दे देना…। छात्रा ने अपनी आत्महत्या की वजह खुद के पास दिमाग नहीं होना बताया है। फिलहाल, पुलिस मामले को संदिग्ध मानकर जांच कर रही है।
 

 
त से घर लौटा भाई, तो फंदे से झूलती मिली बहन
– पुलिस के मुताबिक, गांव सेवनिया निवासी 20 वर्षीय रमा यादव बीए की सेकंड ईयर की स्टूडेंट थी।
– शुक्रवार को पिता और भाई खेत पर गए हुए थे। वो घर पर अकेली थी। खेत से लौटकर भाई जब बहन को कॉलेज पहुंचाने के लिए घर पहुंचा, तो उसे फंदे से लटकी मिली।
– रोते हुए जब उसने परिजनों को इसकी जानकारी दी, तो पुलिस भी मौके पर पहुंची। इसके बाद रमा के शव के पास से एक सुसाइड नोट मिला, जिसमें इमोशनल बातें लिखी हुई थीं।
 

 
‘मेरे पास दिमाग नहीं, इसलिए जीना नहीं चाहती’
– मरने से पहले छात्रा ने एक सुसाइड नोट लिखा है। जिसके अनुसार, मम्मी मेरे लिए जो तुमने कपड़े खरीदे हैं, वो किसी गरीब को दे देना जिसके पास कपड़ा पहनने के लिए न हो।
– मुझे माफ करना। मैं तुम्हारे लिए कुछ नहीं कर सकी। मेरे पास दिमाग नहीं है, इसलिए मैं ये जिंदगी और जीना नहीं चाहती।
– रमा ने अपने सुसाइड नोट में पुलिस से घर-परिवार वालों से उसकी मौत को लेकर पूछताछ न करे।
 
 
 
क्या कहना है पुलिस का ?
इछावर टीआई अरविंद कुमरे ने बताया, पुलिस को छात्रा के पास से सुसाइड नोट मिला है। फिलहाल, मामले की जांच चल रही है। इसके बाद ही मौत के कारणों का पता चल पाएगा।
 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: