Wednesday, December 1

भारतीय कामगारो की ज़बरदस्त जीत, विदेश मंत्रालय ने रिहा करवाया 9 कामगार, दूसरे देश के बही लटके

ईरान ने जुलाई के शुरू में पकड़े गए पोत ‘एमटी रिआह’ पर सवार 12 भारतीयों में से 9 को रिहा कर दिया है। सरकारी सूत्रों ने यह जानकारी दी। बहरहाल, 21 भारतीय अब भी ईरान की हिरासत में हैं, जिनमें एमटी ‘रिआह’ के 3 और ब्रिटेन के तेल टैंकर ‘स्टेना इम्पेरो’ पर सवार 18 भारतीय शामिल हैं।

ईरान ने पिछले हफ्ते होर्मुज के जलडमरूमध्य से ‘स्टेना इम्पेरो’ को जब्त कर लिया था। इसके अलावा ‘ग्रेस-1’ नाम के टैंकर के चालक दल के 24 भारतीय सदस्य जिब्राल्टर पुलिस की हिरासत में हैं। जिब्राल्टर ने यूरोपीय संघ के प्रतिबंधों का उल्लंघन करने के आरोप में ईरान के ‘ग्रेस-1’ को जब्त कर लिया था।
 
 
 
हालांकि भारतीय अधिकारियों ने इन 24 भारतीयों से बुधवार को मुलाकात की है। लंदन स्थित भारतीय उच्चायोग और विदेश राज्यमंत्री वी मुरलीधरन ने बताया कि अधिकारियों ने भारतीयों से मुलाकात की और उन्हें आश्वस्त किया कि भारत सरकार उनकी रिहाई के लिए कदम उठाएगी।

बता दें कि ईरान द्वारा जब्त किए गए ब्रिटेन के तेल टैंकर चालक दल के सभी सदस्य सुरक्षित हैं। स्टेना इम्पेरो को ईरान के रिवॉल्यूशनरी गार्ड ने पांच दिन पहले हिरासत में ले लिया था। इसके बाद भारत ने चालक दल के सदस्यों की रिहाई सुनिश्चित करने के लिए अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कोशिशें शुरू कर दी थीं। भारत के विदेश सचिव विजय गोखले ने ईरानी राजदूत अली चेगेनी से मुलाकात के दौरान इस मुद्दे पर बातचीत की थी। चालक दल के 23 सदस्यों में से 18 भारतीय, 3 रूसी और लातविया और फिलीपींस के 1-1 नागरिक हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: