भारतीय अभिनेत्री प्रियंका चोपड़ा के ख़िलाफ़ ट्विट करने वाले दुबई के शेफ़ तगड़ा झटका, हो गई यहां से छुट्टी

1 min


0

भारतीय अभिनेत्री प्रियंका चोपड़ा के क्वांटिको एपिसोड मामले में विवादास्पद ट्विट करने वाले दुबई के जे डब्ल्यू मैरियट मर्कुईस फाइव स्टार होटल के शेफ अतुल कोचर को तगड़ा झटका लगा है. इस विवाद के वजह से उन्हें नौकरी से निकाल दिया गया है. बता दें कि अतुल कोचर ने इस्‍लाम विरोधी कमेंट किया था इस वजह से उनके खिलाफ क़ानूनी एक्शन लेने की संभावना भी जताई थी.

इससे पहले हमने यह खबर चलाई थी:
एक भारतीय मशहूर शेफ ने ऐसा कमेंट किया है जिससे उनके खिलाफ एक्शन भी लिया जा सकता है. हालांकि उन्होंने मांफी मांग ली है लेकिन फिर भी सरकार चाहे तो उनके खिलाफ कार्रवाई सकती है. हम जिस शेफ के बात कर रहे हैं, उनका नाम अतुल कोचर हैं, अतुल दुबई के एक भारतीय रेस्‍टोरेंट के मुख्‍य शेफ हैं. जिन्होंने इस्‍लाम विरोधी कमेंट किया है, जिसकी जमकर ओलचना हो रही है. कोचर के इस्लाम विरोधी ट्विट से विवाद बढ़ता ही जा रहा है और उनपर मुकदमा भी दर्ज किया जा सकता है.

जेडब्‍ल्‍यू मेरियट मार्किस होटल के रंग महल रेस्टोरेंट के मिशेलिन स्‍टार शेफ अतुल कोचर ने ‘क्‍वाटिंको’ सीरियल के एक एपिसोड को लेकर बॉलीवुड एक्‍ट्रेस प्रियंका चोपड़ा पर निशाना साधा था. इस एपिसोड में हिंदू राष्‍ट्रवादियों को आतंकियों के रूप में दिखाया गया था. उनके कमेंट से आहत स्थानीय लोगों ने उन्हें नौकरी से हटाने की मांग की. साथ ही उनके खिलाफ केस चलाने के भी मांग हो रही है. इस कमेन्ट के बाद सोशल मीडिया पर विवाद शुरू हो चूका है.

इस पर अरब पत्रकार खलीज अलमीना ने ट्विटर पर लिखा, “आपने (अतुल) मुझे आहत किया है. भारत और उसके लोगों से प्यार करने वाले और एक धर्मनिरपेक्ष और उदारवादी इंसान के तौर पर मुझे लगता है कि यह एक खतरनाक बयान है.”

दुबई में सोशल मीडिया को लेकर कानून काफी सख्त है. सांप्रदायिक नफरत या नस्लवाद फैलाने वाले ऑनलाइन कमेंट, विशेष रूप से इस्लाम और मुस्लिमों के संबंध में, यहां अपराध माना जाता हैं और शेफ पर मुकदमा चलाया जा सकता है. संयुक्त अरब अमीरात (दुबई) में एंटी डिस्क्रिमिनेट्री लॉ के तहत धर्म, विश्वास, पंथ, जाति, रंग और जातीय मूल के आधारों पर किया गया सभी तरह का भेदभाव अपराध माना जाता है. इन अपराधों का दोष साबित होने पर दोषी को 5 साल की जेल की सजा हो सकती है, साथ ही दोषी व्यक्ति से 5 से 10 लाख दिरहम जुर्माने के रूप में वसूला जा सकता है.

अतुल ने विवाद के बढ़ने के बाद मांफी भी मांगी हैं. उन्होंने लिखा, “मेरे द्वारा किए गए ट्वीट के लिए मैं कोई सफाई नहीं दूंगा. रविवार को आवेश में आकर की गयी एक बड़ी गलती थी. मैं मानता हूं कि इस्लाम का जन्म करीब 1400 साल पहले हुआ और इसलिए मैं माफी मांगता हूं. मुझे इस्लामोफोबिया नहीं है, मुझे अपने कॉमेंट पर पछतावा है.”


Like it? Share with your friends!

0
admin

0 Comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *