0

भागलपुर: हुजूर मेरी नवविवाहिता बेटी रानी की हत्या कर उसके पति व ससुरालवालों ने मिलकर उसकी लाश को गायब कर दिया। बेटी ने इशीपुर -बाराहाट के उपरबंधा निवासी प्रीतम कुमार पंडित से 26 अप्रैल 2014 को अंतरजातीय विवाह की थी। हमलोग दलित हैं और लड़का कुम्हार है। साजिश के तहत प्रीतम और उसके घरवालों ने शादी कराई और बाद में ससुराल में दहेज की मांग की जाने लगी। नहीं देने पर उसे प्रताड़ित किया जाने लगा और धमकी दी जाने लगी, कि दहेज की रकम नहीं मिली तो देह-व्यापार के धंधे में ढकेल दिया जाएगा।

इसके बाद 26 जनवरी 2018 को ससुरालवालों ने बेटी रानी की हत्या कर लाश को भी गायब कर दिया। यह पीड़ा मिर्जाचौकी (साहेबगंज) के नीमगाछी निवासी रानी के पिता जवाहर रविदास की है। पिता ने मंगलवार को डीआईजी से मुलाकात कर अपनी व्यथा सुनाई और न्याय की गुहार लगाई। डीआईजी को दिए गए आवेदन में पिता ने उक्त बातों का उल्लेख किया। डीआईजी ने रानी की दहेज हत्या और लाश को गायब कर देने की प्राथमिकी दर्ज कर मामले की जांच का निर्देश इशीपुर -बाराहाट थानेदार को दिया है।

पिता ने कहा-ससुराल वालों ने दर्ज करा दिया झूठा केस
पिता ने डीआईजी को बताया कि हत्या करने के बाद बेटी रानी के पति प्रीतम ने स्थानीय थाने से मेल कर रानी के अपहरण का मामला दर्ज करा दिया है। पिता बताया कि रानी ने जब गलत काम करने से इनकार किया, तब उसकी हत्या कर दी गई है और लाश को छिपा दिया गया है। ससुरालवाले फंसे नहीं, इसके कारण रानी के अपहरण का केस दर्ज करा दिया। प्रीतम का एक रिश्तेदार थाने में दारोगा है, इसके कारण अपहरण का झूठा केस दर्ज कराया दिया गया है।
इनपुट:DBC


Like it? Share with your friends!

0
Digital Desk

0 Comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: