Tuesday, October 19

भागलपुर में बनेगा फाइव सेंसेज गार्डन, होंगे वाकिंग, जॉगिंग, साइकलिंग ट्रैक और राष्ट्रीय स्तर का स्टेडियम

भागलपुर: सैंडिस कंपाउंड सह जयप्रकाश उद्यान को अब दिल्ली के फाइव सेंसेज (पंच इंद्रीय) गार्डन की तर्ज पर विकसित किया जाएगा। यह राष्ट्रीय स्तर का आधुनिक पार्क बनेगा। इसके लिए प्रोजेक्ट तैयार हो गया है। इसका प्रजेंटेशन बुधवार को प्रमंडलीय आयुक्त के सभागार में स्मार्ट सिटी पर काम कर रही एजेंसी पीडीएमसी ने शहरवासियों को दिखाया। इसमें तीन ट्रैक, दो स्वीमिंग पुल, 25 से अधिक सीटिंग बैंच, शेड, दो पुराने तालाब के जीर्णोद्धार से लेकर बच्चों, बुजुर्गों व महिलाओं के लिए वहां विशेष व्यवस्था करने को परियोजना में शामिल प्रस्तावों के बारे में जानकारी दी गई।

OLYMPUS DIGITAL CAMERA

इसके बाद बैठक में शामिल शहर के चालीस से अधिक संगठनों के प्रतिनिधियों से भी सुझाव लिए गए। अब उन सुझावों के आधार पर प्रोजेक्ट में संशोधन करते हुए दो जुलाई को होनेवाली बोर्ड ऑफ डायरेक्टर की बैठक में अंतिम मुहर लगेगी।स्मार्ट सिटी कंपनी के चेयरमैन सह कमिश्नर राजेश कुमार ने बताया कि स्मार्ट सिटी के तहत मुख्य रूप से चार प्रोजेक्टों को शामिल किया गया है। इनमें स्मार्ट रोड, वेस्ट मैनेजमेंट सिस्टम, कमांड एंड कंट्रोल और सैंडिस कंपाउंड शामिल है। तीन प्रोजेक्ट पर काम आगे बढ़ चुका है। टेंडर की प्रक्रिया चल रही है।

सैंडिस कंपाउंड सह जयप्रकाश उद्यान का काम अब तक शुरू नहीं हुआ था पर अब उसकी भी शुरुआत हो गई है। वहां पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप (पीपीपी) मोड में काम करने की योजना है। यदि सबकुछ ठीक-ठाक रहा तो बारिश के बाद सैंडिस का काम शुरू हो जाएगा और जमीन पर काम दिखने लगेगा। बैठक में मंच पर विधायक अजीत शर्मा, मेयर सीमा साहा, डिप्टी मेयर राजेश वर्मा, कमिश्नर राजेश कुमार, डीएम प्रणव कुमार और नगर आयुक्त श्याम बिहारी मीणा थे तो दीर्घा में सैंडिस कंपाउंड सह जयप्रकाश उद्यान समिति, खेल संगठन, पार्षद, सीनियर सीटिजन समेत कई लोग मौजूद थे।

बनेगा वाकिंग, जॉगिंग व साइकलिंग ट्रैक
स्मार्ट सिटी के प्रोजेक्ट में बताया गया कि गोलाकार में हेल्थ ट्रैक बनेगा, जिसमें तीन ट्रैक होगा। एक वाकिंग, दूसरा जॉगिंग और तीसरा साइकलिंग ट्रैक। बीच का हिस्सा बच्चों के खेलने के लिए खाली होगा, वहां हरियाली होगी। इसमें बच्चों को किसी तरह से खेल-कूद में व्यवधान नहीं होगा। इसके साथ ही अलग-अलग क्लब बनेंगे। इसमें मेडिटेशन, लाफिंग, योगा व हेल्थ क्लब होगा। पहले से बने योगा क्लब को और आधुनिक और सुंदर बनाया जाएगा। स्किल डेवलपमेंट सेंटर, जागरूकता स्थल बनेगा। राष्ट्रीय स्तर का स्टेडियम बनेगा।

दोनों तालाब का होगा जीर्णोद्धार, एक में होगी बोटिंग की व्यवस्था, दूसरे को रखा जाएगा नेचुरल
कंपाउंड में दो स्वीमिंग पुल बनाए जाएंगे। जयप्रकाश उद्यान के अंदर के दो तालाबों का जीर्णोद्धार होगा। एक तालाब में बोटिंग की व्यवस्था होगी और दूसरे को नैचुरल रखा जाएगा। पर्याप्त पौधे लगाए जाएंगे। दीपक लगे पेड़ों का नियमित रूप से उपचार होगा। ऐसी व्यवस्था की होगी कि अब कोई भी पेड़ दीमक से खराब न हो। शहर में गिरते भूगर्भीय जलस्तर को ध्यान में रखकर वाटर रिचार्ज के स्ट्रक्चर को पूरी परियोजना में शामिल किया गया है। कंपाउंड के अलग-अलग हिस्सों में फूड कॉर्नर, बुक स्टॉल, कलाकृतियों की प्रदर्शनी के लिए भी जगह निर्धारित होंगे।

रणजी मैच को बनेगा स्टेडियम, दो फ्लोर का होगा स्टेशन क्लब
क्रिकेट स्टेडियम को इस तरह से विकसित किया जाएगा, ताकि रणजी मैच यहां हो सके। विभिन्न खेल संघों ने सुझाव दिया कि स्टेडियम इस तरह से विकसित किया जाए, ताकि विभिन्न खेलों का आयोजन किया जा सके। इसके लिए मल्टी स्पोर्ट स्टेडियम बनेगा। स्टेशन क्लब में दो फ्लोर का निर्माण होगा। एक वरिष्ठ नागरिक ने सुझाव दिया कि प्राथमिक उपचार व ऑक्सीजन की व्यवस्था हो, इस पर सहमति बनी।

महिलाओं के लिए एक स्थाई केंद्र हो चहारदीवारी की ऊंचाई बढ़ाई जाये
पूर्व डिप्टी मेयर सह पार्षद प्रीति शेखर ने सुझाव दिया कि कंपाउंड में महिलाओं के लिए पत्र-पत्रिकाओं के अध्ययन के लिए एक स्थायी केंद्र विकसित किया जाए। वाटर लाइटिंग की व्यवस्था की जाए, पूरे प्रोजेक्ट में वेस्ट मेटेरियल से कलाकृति बनाने पर भी प्रस्ताव लाया जाएगा। पुलिस से आए प्रतिनिधि ने सुझाव दिया कि सुरक्षा की दृष्टि से चहारदीवारी की ऊंचाई बढ़ाई जाए।

तारामंडल बनाने के सुझाव पर डीएम ने कहा, अलग से विभाग को भेजेंगे प्रस्ताव
देवाशीष बनर्जी ने सुझाव देते हुए एक तारा मंडल बनाने की बात रखी। इस पर डीएम प्रणव कुमार ने कहा कि यह सैंडिस कंपाउंड में यह संभव नहीं है, इसके लिए काफी जगह की जरूरत पड़ेगी। इसके लिए विज्ञान व प्रौद्योगिकी विभाग को अलग से प्रस्ताव भेजा जाएगा। डीएम ने कहा कि आगे भी लोग अपना सुझाव दे सकते हैं। ऑटोमेटिक गेट होगा। कंपाउंड में इंट्री के लिए शुल्क लगेगा, लेकिन बुजुर्गों के लिए निशुल्क होगा।
इनपुट: DBC

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: