Breaking News

भागलपुर का एक और बांध ध्वस्त, सम्पर्क टूटा, नाव, चूड़ा और खाने का समान पहुँचा रहे अफ़सर

भागलपुर नवगछिया के इस्माईलपुर से बिंदटोली तक 12 वर्ष पुराना तटबंध गंगा नदी के बढ़ते जलस्तर के दबाव के कारण स्पर संख्या 2 एवं 3 के बीच डिमाहा गांव के समीप ध्वस्त हो गया।  बताया जाता है कि बांध में पानी के रिसाव के बाद बांध एकाएक फटकर बैठ गया और फिर कटकर बह गया। बांध कटने के बाद पानी की तेज धार से पानी टंकी भी ध्वस्त हो गयी।

 

बांध ध्वस्त होने की जानकारी मिलते ही जल संसाधन विभाग के भागलपुर के अधीक्षण अभियंता, फ्लड फाइटिंग फोर्स के अध्यक्ष, सहायक अभियंता सहित कई पदाधिकारी मौके पर पहुंचे और तटबंध टूटने की जानकारी तत्काल जिला प्रशासन को दी। जिला पदाधिकारी सुब्रत कुमार सेन के निर्देश पर  अनुमंडल पदाधिकारी अखिलेश कुमार ने मौके पर पहुंचकर बाढ़ प्रभावित इलाके का जायजा लिया एवं बाढ़ में फंसे लोगों को बचाने के लिए तत्काल स्थानीय स्तर पर नाव की व्यवस्था करने के लिए अंचलाधिकारी को कहा। वहीं स्थिति की भयावहता को देखते हुए जिला पदाधिकारी सुब्रत कुमार सेन, जिला उप विकास आयुक्त सुनील कुमार, एसपी सुशांत कुमार सरोज एवं जिला के कई पदाधिकारी  मौके पर पहुंचकर देर शाम तक कैम्प किए हुए थे।

 

पानी के तेज बहाव में बह गयी दो पुलिया

गंगा नदी के पानी के तेज बहाव में सोमवार को लक्ष्मीपुर-इस्माईलपुर के बीच स्थित पुलिया टूट कर बह गयी। जिससे आवागमन की असुविधा हो गयी है। वहीं परबत्ता और इस्माईलपुर के बीच की एक पुलिया भी पानी के तेज बहाव में बह गयी है।

 

बाढ़ की स्थिति भयावह, कई गांव जलमग्न

बांध टूटने के बाद बाढ़ के पानी से इस्माईलपुर का लक्ष्मीपुर, नारायणपुर, मालपुर, डिमाहा, गोपालपुर प्रखण्ड का गोसाईगांव में  पानी घुसने का खतरा मंडराने लगा है। कई गावों में पानी घुस रहा है।  ध्वस्त हो रहे तटबंध के समय दो बच्चे भी बहने लगे थे। जिन्हें स्थानीय लोगों ने बाहर निकाला। जिला पदाधिकारी ने मौके पर तत्काल एनडीआरएफ एवं एसडीआरएफ टीम को सूचना देने की बात कहते हुए मौके पर सूखा राशन, पॉलीथिन एवं समुदाय किचन चालू कराने का निर्देश दिया। बाढ़ प्रभावित गांव में फंसे लोगों को निकालने के लिए दो बड़े-बड़े नाव की व्यवस्था की गई।

 

रंगरा: सुकटिया बाजार 14 नंबर सड़क पर पानी का रिसाव

रंगरा प्रखंड मुख्यालय से सटे मुस्लिम टोला के पास रंगरा, सुकटिया बाजार चौदह नंबर सड़क भी बाढ़ के पानी के दबाव से कटने के कगार पर है। दो दिनों से सड़क में पानी का रिसाव हो रहा है, जो किसी भी समय कटने सकती है। एसडीओ के निर्देश पर पथ निर्माण विभाग द्वारा बचाव कार्य किया गया, लेकिन पानी का बहाव धीरे-धीरे हो रहा है। पहले भी बाढ़ के पानी में यह सड़क कटी थी, जिससे लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा था।

तेतरी में 14 नंबर सड़क धंसा, आवागमन बन्द

नवगछिया से भागलपुर जाने वाली चौदह नंबर सड़क एक बार फिर से ध्वस्त होने के कगार पर पहुंच गया है। कलबलिया नदी में आयी बाढ़ के पानी के दबाव से सड़क धंस गयी है। सोमवार संध्या समय सड़क के धंसने की सूचना पर अफरातफरी मच गई। सूचना पर पथ निर्माण विभाग के अभियंता कलबलिया नदी के पास स्थित सड़क पर पहुंचे और धंसी सड़क को देखा। पथ निर्माण विभाग द्वारा बचाव कार्य शुरू किया गया है। सड़क पर आवागमन बंद कर दिया गया है। पहले भी बाढ़ के पानी के दबाव पर सड़क यही पर कटी थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: