Tuesday, October 19

ब्रेकिंग: भागलपुर के बाद बिहार में यहां भी भड़की हिंसा, रोड़ेबाजी और पुलिस की खदेड़-खदेड़कर पिटाई के बाद पुरे जिलें में धारा 144 लागु

भागलपुर में हुए हिंसा की आग अभी शांत नहीं हुई है और बिहार एक और जिलें में बवाल बात सामने आ गई। जिसके बाद हड़कम्प मच गया है। बता दें कि औरंगाबाद जिले में आज भी रामनवमी जुलूस के दौरान जमकर हंगामा हुआ जिसमे उपद्रवियों ने बाजार में जमकर तोड़फोड़ की और दुकानों को आग के हवाले कर दिया। घटना का पता चलते ही पहुंची पुलिस पर भी उपद्रवियों ने रोड़ेबाजी की और पुलिस को भी खदेड़-खदेड़कर पीटा।

वहीं, उपद्रवियों ने नावाडीह मोहल्ले में फायरिंग की जिसमें दो लोगों के घायल होने की सूचना है। उपद्रवियों ने महाराजगंज रोड में कई दुकानों में लगाई आग अब तक दो दर्जन से अधिक दुकानें जलकर राख हो गयीं। भड़की हिंसा के बाद जिलाधिकारी ने जिले में धारा 144 लागू करने की घोषणा कर दी है।

रविवार को भी बिहार के औरंगाबाद और कैमूर जिले में शोभा यात्रा को लेकर दो पक्षों के बीच तनाव उत्‍पन्‍न हो गया था और तनाव की आड़ में उपद्रवियों ने आगजनी व पथराव किया। कई गाडि़यों को आग के हवाले कर दिया।

जानकारी के अनुसार, औरंगाबाद शहर के नावाडीह मोहल्ले में रविवार शाम बाइक जुलूस पर पथराव के बाद शहर में तनाव बढ़ गया। उपद्रवियों ने नावाडीह में जमकर हंगामा एवं दुकानों में तोडफ़ोड़ की। नगर थाना के सदर अस्पताल के पास स्थित दर्जन भर दुकानों में आग लगा दी। दुकान में रखा सामान धू-धू कर जलने लगा। रोड़ेबाजी में दर्जनों उपद्रवियों के घायल होने की सूचना है।

बता दें कि शनिवार को सिवान जिले में बी शोभायात्रा निकालने को लेेकर हिंसक झड़प हुई थी। जिले के एमएच नगर थाना क्षेत्र अंतर्गत निजामपुर कर्बला के समीप शनिवार को श्रीराम जन्मोत्सव के पूर्व बाइक से निकाली गई शोभा यात्रा को रोके जाने के बाद दो पक्षों में तनाव हो गया। देखते ही देखते थोड़ी देर बाद पथराव शुरू हो गया। शरारती तत्वों ने जमकर उत्पात मचाया।

उपद्रवियों ने एक प्राइवेट स्कूल में तोडफ़ोड़ की और दो स्कूली वाहनों को आग के हवाले कर दिया। दोनों तरफ से जमकर पथराव किया गया। पथराव में स्थानीय थानाध्यक्ष अतुल राज और दो जवानों को चोटें आईं। जबकि एक दर्जन से ज्यादा लोगों के घायल होने की सूचना है।

वहीं शनिवार को हसनपुरा में 2 दिन पूर्व दो पक्षों में हुए विवाद के बाद हसनपुरा के उसरी में बनिया वर्ग के लोगों ने अपनी दुकानें बंद कर दीं हैं। उनका कहना है कि पुलिस ने निर्दोष लड़कों को पकड़ कर जेल भेज दिया है।
इनपुट:JMB

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: