Sunday, December 5

बिहार: रेड लाइट एरिया समेत कई ठिकानों पर CBI की छापेमारी, यहां भी पहुंची…

मुजफ्फरपुर बालिका गृह दुष्कर्म कांड की जांच कर रही CBI ने अपनी दबिश तेज कर दी है. कांड में शामिल ब्रजेश ठाकुर की करीबी मधु समेत फरार अन्य आरोपितों को पकड़ने के लिए CBI ने शनिवार को मुजफ्फरपुर के कई ठिकानों पर छापेमारी कर रही है. CBI ने शनिवार को रेड लाइट एरिया, अमर सनेमा रोड, महराजी पोखर और पुरानी गुदड़ी समेत कई जगहों पर छापेमारी की. साथ ही सीबीआई की टीम शेल्टर होम भी पहुंची है और वहां बंद कमरों को खोलकर जांच कर रही है़. इस दौरान सीबीआई के ज्वाइंट डायरेक्टर भानु भास्कर, असिस्टेंट डायरेक्टर एके शर्मा, डीआईजी अभय कुमार, एसपी देवेंद्र सिंह के साथ लगभग डेढ़ दर्जन CBI के अधिकारियों के साथ ही TISS की टीम भी बालिका गृह और स्वाधार गृह का दौरा किया. इनके साथ स्थानीय थाने की पुलिस भी मौजूद है.

दूसरी ओर, कांड से जुड़ी एक और बड़ी खबर आ रही है. कांड के आरोपित निलंबित बाल संरक्षण अधिकारी (सीपीओ) रवि रोशन की पत्नी शिभा कुमारी के खिलाफ दायर संपत्ति के अनुलग्नक किया जायेगा. शिभा ने ही सोशल मीडिया पर नाबालिग लड़कियों के नामों का खुलासा किया था, जिस पर संज्ञान लेते हुए सुप्रीम कोर्ट ने शिभा को गिरफ्तार करने का निर्देश दिया था. वहीं, CBI अगले तीन दिनों तक जिला बाल संरक्षण इकाई की निलंबित सहायक निदेशक रोजी रानी, नगर थाना क्षेत्र के पुरानी गुदरी भवानी सिंह मार्ग निवासी गुड्डू कुमार, मनियारी थाना के छितरौली गांव निवासी विजय कुमार तिवारी, सकरा फरीदपुर निवासी संतोष कुमार से भी पूछताछ करेगी. सूत्रों की माने तो पूछताछ में सीबीआई को कई महत्वपूर्ण चीजों की जानकारी मिल सकती है.

इससे पहले शुक्रवार को सीबीआई ने जिला बाल संरक्षण इकाई की निलंबित सहायक निदेशक रोजी रानी समेत चार को विशेष पॉक्सो कोर्ट में पेश किया था. पॉक्सो कोर्ट के प्रभारी न्यायाधीश मनोज कुमार की अदालत में पेशी के बाद चारों को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया. मामले की अगली सुनवाई 24 सितंबर को होगी. पेशी के बाद चारों को जेल भेज दिया गया. जेल जाने के समय रोजी रानी आक्रोशित हो गयी थी. वह कहने लगी कि अगर उसका मुंह खुल गया, तो बड़े-बड़े लोग फंस जायेंगे.

गौरतलब हो कि कांड के मास्टरमाइंड ब्रजेश ठाकुर की करीबी मधु की तलाश लंबे समय से चल रही है. लेकिन, अभी तक उसका कोई सुराग नहीं मिला है. आज से पहले भी मधु की तलाश में चतुर्भुजस्थान समेत कई जगह पर छापेमारी भी हुई है. लेकिन, मास्टरमाइंड ब्रजेश ठाकुर की राजदार और चिल्ड्रेन होम की कर्ता-धर्ता मधु अभी भी पुलिस और सीबीआई की गिरफ्त से बाहर है. जबकि, महिला थाने की केस डायरी में उसका जिक्र किया गया है. पुलिस सूत्रों कि माने तो मधु की गिरफ्तारी ब्रजेश के गुनाहों की फेहरिस्त और लंबी कर सकती है. चिल्ड्रेन होम में रहनेवाली लड़कियों ने भी मधु नाम की महिला का जिक्र किया है, जो अक्सर चिल्ड्रेन होम के कामकाज का जायजा लेने के लिए वहां मौजूद रहती थी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: