Tuesday, October 19

बिहार में Double Decker Flyover का निर्माण शुरू, फटाफट कनेक्ट हो जाएगा कोई भी ज़िला Highway से

एनएच-33 पर प्रस्तावित फ्लाईओवर दोतल्ला अर्थात डबल डेकर होगा के निर्माण का रास्ता साफ हो गया है। दोनों तल पर छह-छह लेन की सड़कें भी बनाई जाएंगी। इनमें तीन-तीन लेन जाने और इतनी ही आने के लिए लेन होंगे। केंद्रीय सड़क एवं परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने नई दिल्ली में मंगलवार को सांसद विद्युतवरण महतो की विस्तृत बैठक मे इस प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है। इस बैठक में एलिवेटेड कॉरिडोर की लंबाई 5.5 किलोमीटर से बढ़ाकर 7 किलोमीटर करने का भी प्रस्ताव पेश किया गया, जिसे नितिन गडकरी ने अपनी मंजूरी दे दी और तदनुसार उपस्थित पदाधिकारियों को भी निर्देश दिया। इस बदलाव से यह फ्लाईओवर का बालीगुमा वाला सिरा भिलाई पहाड़ी तक बढ़ जाएगा।

फ्लाईओवर के बीच में बनाए जाएंगे दो रैम्प

इस फ्लाईओवर में दो रैंप बनाए जाने पर भी फैसला लिया गया है इससे एनएच पर पहुंचने के लिए एवं उतरने के लिए वाहनों को लंबी दूरी तय नही करनी पड़ेगी। डिमना चौक से बालीगुमा बीच स्थित जर्जर पुल एवं उसके बगल में प्रस्तावित नए पुल का निर्माण कार्य में तेजी।लाने के लिए अधिकारियों को निर्देश दिए गए।

फाइबर रिइंफोर्स्ड स्टील तकनीक से बने पिलर

नितिन गडकरी ने एनएचएआई के पदाधिकारियों को यह भी निर्देश दिया है कि फ्लाईओवर के पिलर बनाने मे फाइबर रिइंफोर्स्ड स्टील तकनीक का इस्तेमाल किया जाए। इससे जहां एक पिलरों की संख्या घटेगी वही उसकी मजबूती बढ़ जाएगी। मंत्री ने फ्लाईओवर के निचले भाग को नागपुर की तर्ज पर विकसित करने का प्रस्ताव दिया। ग्राउंड लेवल पर पिलर निर्माण के लिए ली जाने वाली जगह की चौड़ाई 10 से घटाकर 5 मीटर करने का।प्रस्ताव दिया गया जिससे उस जमीन का बेहतर उपयोग हो सके।

फूलडुंगरी के पास बनाया जाएगा अंडरपास

घाटशिला के फूलडुंगरी के पास दुर्घटना रोकने के उद्येश्य से एक अंडरपास का निर्माण किया जाएगा। सांसद की तरफ से इस बैठक में महुलिया से फूलडुंगरी के बीच दुर्घटना के दृष्टिकोण से खतरनाक संभावित क्षेत्र के सभी ब्लैक स्पॉट को समाप्त करने का प्रस्ताव रखा गया। इस बात के लिए भी गडकरी ने अधिकारियों को समुचित निर्देश दिए।

ड्रोन कैमरे से तैयार वीडियो का पीपीटी पेश

केन्द्रीय मंत्री ने अधिकारियों को इस निर्माण कार्य के लिए पदाधिकारियों को सभी निश्चित समय पर पूरा कराने और क्वालिटी का पूरा ध्यान रखने का निर्देश दिया। यह बैठक पूरे दो घंटे तक चली इस बैठक में सर्वप्रथम एनएचएआई । इस बैठक मे मौजूद अधिकारियों के द्वारा ड्रोन कैमरे से वर्तमान एनएच पर तैयार पावर प्वाइंट प्रजेंटेशन (पीपीटी) दिया गया एवं एलिवेटेड कॉरिडोर के प्रत्येक बिंदु पर विस्तार से चर्चा की गई। बैठक में एनएचएआई के पदाधिकारी सीजीएम (आरओ) रांची एसके मिश्रा, सीजीएम (टेक्निकल) हेड क्वार्टर अजमेर सिंह, सीजीएम (टेक्निकल) झारखंड आदित्य प्रकाश एवं स्थानीय प्रोजेक्ट डायरेक्टर कर्नल एएस कपूर मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: