0

बिहार के नालंदा के थरथरी प्रखंड में सात लाख रुपए लाओ, नौकरी पाओ का बड़े पैमाने पर खेल चल रहा है। इस पूरे फर्जीवाड़े को बीआरसी में योगदान दे रहे एक शिक्षक द्वारा संचालित किया जा रहा है। इसमें कर्मी से लेकर अधिकारी की संलिप्तता भी संदेह के घेरे में है। पूर्व में भी माफिया पर स्कूल के हेडमास्टर द्वारा थरथरी थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई गई है। इसके बावजूद किंगपिन मोटी रकम लेकर शिक्षक बहाली करते जा रहा है। थरथरी प्रखंड शिक्षक के पद पर 8 लोगों की बहाली की जा चुकी है। इसकी पुष्टि बीडीओ तरुण कुमार ने की।

इधर, जिला शिक्षा पदाधिकारी डॉ. विमल ठाकुर ने बताया कि बहाली का रोस्टर जारी नहीं किया गया है। अगर कोई प्रधानाध्यापक शिक्षकों का ज्वाइनिंग लेते हैं तो उन पर कार्रवाई की गाज गिरेगी। सूत्रों की मानें तो किंगपिन ने 30 शिक्षकों के फर्जी तरीके से बहाली कराने की योजना बनाई है। 8 लोगों को ज्वाइन भी करा दिया है।

बीआरजी का खुलासा, किंगपिन को पकड़िए नौकरी पाइए…
संवाददाता: हेलो। नमस्ते सर बीआरजी के कर्मी उपेंद्र सर बोल रहे हैं।
बीआरजी:हां, आप कौन। अपना परिचय दीजिए
संवाददाता:मैं नूरसराय से दिनेश बोल रहा हूं। शायद आप हमें पहचानते हैं।
बीआरजी: हां, कहिए कैसे हैं, क्या काम है।
संवाददाता:हमें मालूम हुआ है कि थरथरी प्रखंड में शिक्षक बहाली हो रही है, हमें भी करवा देते। जो सेवा होगा कर देंगे।
बीआरजी:आप किंगपिन को पकड़िए, वो करवा देंगे। 7 लाख रेट चल रहा है।
संवाददाता: हमें किंगपिन से पहचान नहीं है। सर जानकारी मिली है कि संजय समेत कई लोगों की बहाली कराई गई है।
बीआरजी:जिनकी बहाली हुई है वह गलत है। बहाल हुए लोगों का नियोजन किसके आदेश से होगा, उनका ज्वाइनिंग कौन लेगा, आपको पैसा फंसाना है तो फंसाइए, मेरी जवाबदेही नहीं होगी।
संवाददाता: ज्वाइनिंग लेटर पर देखे हैं बीडीओ का हस्ताक्षर है। इस कारण हमें लगा कि सही तरीके की बहाली हो रही है।
बीआरजी:हां, बीडीओ हस्ताक्षर कर रहे हैं वह ज्वाइन करवाने भी जाते हैं। मगर हेडमास्टर ज्वाइनिंग लेने से पहले पदाधिकारी से शपथ पत्र की मांग करते हैं। इस कारण पदाधिकारी बिना ज्वाइन कराए लौट आते हैं। बीईओ भी जाते हैं ज्वाइनिंग कराने। सभी की संलिप्तता है। निगरानी के डर के कारण अधिकारी हेडमास्टर पर प्रेशर नहीं डाल पा रहे हैं।

बीडीओ ने कहा- 8 को दिया ज्वाइनिंग लेटर
बीडीओ तरुण कुमार ने बताया कि 22 फरवरी की तारीख में 8 नियोजन पत्र दिया गया है। अभ्यर्थियों ने प्रमुख को आवेदन दिया था। प्रमुख के कहने पर बीईओ के साथ बैठक कर स्वीकृति दी गई। बीईओ की अनुशंसा पर नियोजन किया गया है। डीईओ डॉक्टर विमल ठाकुर ने बताया कि वर्तमान में नियोजन पर रोक है। अगर नियोजन कार्य चल रहा है तो वह गलत है। जो एचएम ज्वाइनिंग कराएंगे उन पर गाज गिरेगी।

कौन है किंगपिन, जो कर रहा करोड़ों की उगाही
फर्जी बहाली कराने वाला सरकारी कर्मी किंगपिन के नाम से मशहूर है। अब तक वह सैकड़ों लोगों की बहाली करा चुका है। एक प्रधानाध्यापक ने उसपर थरथरी थाने में प्राथमिकी भी दर्ज कराई है। सभी मानते हैं कि किंगपिन फर्जी बहाली कराता है।
जाली सर्टिफिकेट वाले 16 दे चूक
न्यायालय की चेतावनी के बाद जिले में अब तक जाली सर्टिफिकेट पर नौकरी करने वाले 16 शिक्षक इस्तीफा दे चुके हैं। बावजूद खेल जारी है।
INPUT: DBC


Like it? Share with your friends!

0
Digital Desk

0 Comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: