बिहार में नही हुआ था गैंगरेप, झूठ का बदनाम मत करो, शादी से भागने पर बाप ने ही मारी थी गोली

1 min


0

पिता ने बताया कि विवाहित पुत्री के प्रेमी के साथ फरार हो जाने से सिर पर बदनामी का काला धब्बा लग गया था। जिसका बदला वह लेना चाहता था। उसने अपने बेटे व एक रिश्तेदार के साथ मिलकर पूरी घ/टना की प्लानिंग की और बक्सर से कुकुढ़ा ले जाकर उसे अंजाम दिया।
 

 
बक्सर जिले के कुकुढ़ा गांव के बधार में विवाहिता की नृशंस हत्याकांड का खुलासा पुलिस ने कर लिया है। मृतका की पहचान रोहतास जिले के दिनारा बाजार निवासी महेंद्र प्रसाद गुप्ता की पुत्री रानी कुमारी के रूप में हुई है। स्पष्ट हो गया है कि हत्या ऑनर किलिंग है।
 
गिरफ्तार पिता ने बताया कि विवाहित पुत्री के प्रेमी के साथ फरार हो जाने से सिर पर बदनामी का काला धब्बा लग गया था। जिसका बदला वह लेना चाहता था। उसने अपने बेटे व एक रिश्तेदार के साथ मिलकर पूरी घटना की प्लानिंग की और बक्सर से कुकुढ़ा ले जाकर उसे अंजाम दिया। इस मामले में हत्यारा पिता महेंद्र प्रसाद सिंह, मां शर्मिला देवी व भाई मुकेश कुमार को गिरफ्तार कर पुलिस ने जेल भेज दिया है। पुरे मामले के खुलासे की जानकारी बक्सर एसपी उपेंद्र नाथ वर्मा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में दी। उन्होंने बताया कि तीन अन्य अज्ञात अपराधियों की तलाश जारी है। जो स्थानीय निवासी बताये जा रहे हैं। दिनारा बाजार स्थित मृतका के घर से लाइसेंसी रायफल व नौ गोलियां बरामद की गयी। पुलिस को शक है कि इसी हथियार से वारदात को अंजाम दिया गया है। हालांकि पुलिस का कहना है कि जांच के बाद ही कुछ कहा जा सकेगा।
 

रो पड़े पिता ने कहा; इज्जत बचाने के लिए हत्या कर दी
डुमरांव में हत्यारे पिता की तलाश में जुटी पुलिस ने उसे सड़क से पैदल जाते हुए गिरफ्तार किया। पुलिस को उसने बताया कि लाखों रुपये खर्च कर बेटी की शादी बड़े धूमधाम से की थी। लेकिन, वह शादी के दूसरे दिन अपने प्रेमी के साथ भाग निकली। बाद में उसके प्रेमी ने भी छोड़ दिया। फिर वह मेरे इज्जत को बर्बाद करने लगी। उसका प्रेमी शादी के लिए तैयार नहीं था। जब दबाव दिया तो कहा कि मोहनिया काण्ड (गैंगरेप) दोहरा दूंगा। जिसके डर से मुझे यह फैसला लेना पड़ा। यह बताते हुए वह फफककर रो पड़ा।

गैं’/गरेप बताने वाले डॉ. बीएन चौबे से जिलाधिकारी ने मांगा जवाब
शव मिलने के बाद पूरी तरह जला हुआ था। सिर्फ पांव ही सुरक्षित बचे हुए थे। सदर अस्पताल में पोस्टमार्टम करने वाले डॉ. बीएन चौबे ने मीडिया में बयान दिया था कि मृतका के साथ हैदराबाद जैसी हैवानियत हुई है। उसके साथ गैंगरेप करने के बाद गोली मारने व जलाने की खबर मीडिया में आते ही बवाल मच गया। डॉक्टर चौबे से डीएम राघवेंद्र सिंह ने शोकॉज किया है। डीएम ने कहा कि डॉक्टर ने किन परिस्थितियों में ऐसा बयान दिया। उनसे स्पष्टीकरण मांगी जा रही है।


Like it? Share with your friends!

0
Digital Desk

0 Comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: