बिहार को तोहफे में मिली 'हमसफर एक्सप्रेस' की ये सभी खासियतें हैं सबसे अलग, जानिए इसके बारे में सबकुछ

1 min


0

पटना : चंपारण सत्याग्रह के 100 वर्ष के समापन अवसर पर प्रधानमंत्री ने बिहार वासियों को ‘हमसफर एक्सप्रेस’ की सौगात दी है. यह ट्रेन विशिष्ट सुविधाओं से लैस है. यह ट्रेन आम आदमी को विशिष्ट ‘सुख साधन’ उपलब्ध कराने की दिशा में पहल है. हमसफर एक्सप्रेस सप्ताह में दो दिन चलेगी.

हमसफर एक्सप्रेस सोमवार और गुरुवार को कटिहार से दिल्ली के लिए प्रस्थान करेगी. यह ट्रेन सोमवार और गुरुवार को सुबह पांच बज कर 40 मिनट पर खुल कर क्रमश: मंगलवार और शुक्रवार को सुबह 11 बज कर 40 मिनट पर पहुंचेगी. वहीं, दिल्ली से मंगलवार और शुक्रवार को दोपहर एक बज कर 45 मिनट पर खुल कर क्रमश: बुधवार और शनिवार को शाम सात बज कर 20 मिनट पर कटिहार पहुंचेगी.

हमसफर एक्सप्रेस का ठहराव कटिहार से खुलने के बाद पूर्णिया जंक्शन, दौराम मधेपुरा, सहरसा, खगड़िया, समस्तीपुर, मुजफ्फरपुर, बापूधाम मोतिहारी, बेतिया, नरकटियागंज, गोरखपुर, नौगढ़ बलरामपुर, गोंडा, लखनऊ, कानपुर सेंट्रल निश्चित किया गया है. इसके बाद ट्रेन सीधे दिल्ली पहुंचेगी.

एसी-3 की होंगी 16 बोगियां, कटिहार से दिल्ली का किराया होगा 1575 रुपये
हमसफर एक्सप्रेस में वातानुकूलित 3 टियर की 16 बोगियां होंगी. साथ ही ब्रेक, लगेज कम जनरेटर कार की दो बोगियों के अलावा एक पैंट्री कार की बोगी होगी. इस तरह ट्रेन में कुल 19 बोगियां होंगी. ट्रेन में वातानुकूलित 3 टियर की सुविधा होगी. साथ ही हमसफर एक्सप्रेस में परिवर्तनीय किराया लागू किया गया है. कटिहार से दिल्ली के लिए प्रति वयस्क मूल किराया 1575 रुपये, लखनऊ के लिए 1235 रुपये, कानपुर के लिए 1290 रुपये निर्धारित किये गये हैं. वहीं, पूर्णिया से दिल्ली के लिए 1560 रुपये और लखनऊ के लिए 1210 रुपये निर्धारित किया गया है.

विशिष्ट सुविधाओं से लैस हैं बोगियां
ट्रेन की बाहरी बॉडी पर विनाइल कोटिंग होने के कारण कुछ लिखना नहीं होगा आसान.
सीटों को बनाया गया है काफी आरामदेह
सभी बर्थ के पास लैपटॉप और मोबाइल चार्जिंग की व्यवस्था
सभी केबिन में कूड़ेदान की भी व्यवस्था
सभी डिब्बे के गलियारे के बाहर तीन गंध नियंत्रण प्रणाली
सभी डिब्बों में एक अग्नि संकेतक प्रणाली
सभी सीट पर लगाये गये हैं ब्रेल पद्धति वाले स्टीकर
डिब्बे के हर छोर पर जीपीएस प्रणाली
परिजनों को मिलेगी ट्रेन के वास्तविक स्थान की जानकारी
यात्रियों की निजता के लिए लगाया गया है पर्दा
एलईडी की रोशनी से जगमग होंगी बोगियां
आधुनिक शौचालय की व्यवस्था
स्वास्थ्य कर फ्लश इंटीरियर्स
सॉप डिस्पेंसर्स और शौचालय के फ्लश के नीचे गंध नियंत्रण प्रणाली
शौचालय के बाहरी क्षेत्र और रसोईयान से सटे कूड़ेदान
एक कोने में अग्निशमन यंत्र, तो दूसरे कोने में दर्पण के साथ वाश बेसिन
रेलवे ट्रैकों को मल मुक्त रखने के लिए लगाये गये हैं बायो टॉयलेट
सभी डिब्बों में छह सीसीटीवी कैमरे
पूरे ट्रेन में 14 धुआं और ताप मापक यंत्र
केंद्रीयकृत ईकाई के जरिये ट्रेन पर नजर रखेंगे रेलवे के कर्मचारी
इनपुट:JMB


Like it? Share with your friends!

0
Digital Desk

0 Comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *