0

लखनऊ। अटल बिहारी बाजपेयी लखनऊ संसदीय क्षेत्र से पांच बार सांसद रहे हैं। उनका लखनऊ से खास लगाव रहा है। लखनऊ के लोग भी अटल जी को दिल से अपना मानते हैं। अटल जी से जुड़ी हुई तमाम रोचक कहानियां और किस्से इस शहर के जेहन में है। एक ऐसा ही किस्सा राम जन्म भूमि आंदोलन के समय का है जब अटल जी खाना छोड़ कर एयरपोर्ट पहुंचे थे।

देश भर में राम जन्मभूमि आंदोलन अपने चरम पर था। अटल की लखनऊ में थे और स्टेट गेस्ट हाउस में भोजन कर रहे थे। उसी रात उन्हें दिल्ली निकलना था। दूसरे कमरे में लाल जी टंडन और दूसरे नेता बैठे हुए थे। तभी कमरे में हलचल बढ़ गई। लखनऊ के जिलाधिकारी और तत्कालीन राज्यपाल के सलाहकार हैरान परेशान वहां पहुंचे और अटल जी से मिलने की बात कही। लाल जी टंडन ने अधिकारियों को बताया कि अटल जी अभी भोजन कर रहे हैं इसलिए आप लोग थोड़ा इंतजार करें पर अधिकारी अटल जी से मिलने की गुजारिश करते रहे।

अटल जी ने आवाज सुन कर दोनों अधिकारियों को अपने पास बुलाया और आने की वजह पूछी। तत्कालीन जिलाधिकारी ने हाथ जोड़ते हुए कहा कि अमौसी हवाई अड्डे पर एक लड़का दिल्ली जाने वाली फ्लाइट में हथगोला ले कर चढ़ गया है और आपको बुलाने की जिद पर अड़ा हुआ है। कह रहा है कि अटल जी को बुलाओ नहीं तो पूरे जहाज को उड़ा दूंगा। लाल जी टंडन हैरान थे उन्होंने अधिकारियों से कहा इस तरह के माहौल में अटल जी वहां कैसे जाएंगे। पर अटल जी तुरंत खाना छोड़ कर खड़े हो गए और अधिकारियों से बोले कि चलिए चलते हैं। अटल जी ने लाल जी टंडन से कहा मुझे जाना होगा, आखिर सैकड़ों लोगों की जिंदगी का सवाल है।

सभी लोग थोड़ी देर में एयरपोर्ट पहुंच गए। अटल जी ने कंट्रोल टावर पर चढ़ कर उसके लड़के से बात की। पर वो लड़का अपनी जिद पर अड़ा रहा उसे विश्वास नही था कि अटल जी ही उससे बात कर रहे हैं। तब अटल जी ने अधिकारियों से प्लेन के पास ले चलने के लिए कहा। अधिकारियों की हालत ये सुन कर खराब हो गई, सभी अनहोनी की आशंका को लेकर चिंतित हो उठे। पर अटल जी प्लेन के पास जाने लगे। जैसे-तैसे डीएम और अन्य अधिकरी अटल जी के साथ जहाज तक पहुंचे। लड़के ने अटल जी को देखकर उन्हें अंदर बुलाया। अटल जी ऊपर प्लेन में चढ़ गए। अटल जी को सामने पा कर वो लड़का अटल जी के पैरों में झुक गया। उसने अपने हाथ मे लिए हुए गोल फेंकते हुए कहा कि ये महज एक सुतली का गोला है। सुरक्षाबलों ने उस लड़के को गिरफ्तार कर लिया।

अटल जी ने बाद में अपने पार्टी के कार्यकर्ताओं से कहा कि लड़के ने नादानी में ये गलती की है। आप लोग इसकी जमानत करा देना जिससे इसका भविष्य खराब न हो। हवाई जहाज के अंदर सीताराम केसरी बैठे हुए थे। सीताराम केसरी कांग्रेस के बड़े नेता थे और पार्टी कोषाध्यक्ष थे। अटल जी को देखकर केसरी ने कहा जब मुझे पता चला कि आप लखनऊ में है तो मेरी जान में जान आई। मुझे पता था आप जरूर आएंगे।


Like it? Share with your friends!

0
user

0 Comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: