Friday, September 24

बड़ी ख़बर: सुप्रीम कोर्ट ने डीज़ल के दाम को ले दिया सरकार को आदेश, और अब चेहरे से होगी आधार की पहचान

सुप्रीम कोर्ट ने देश में डीजल के इस्तेमाल में कमी लाने के मकसद से केंद्र सरकार को उसके दाम बढ़ाने की एक अजीबोगरीब सलाह दी है.
देश की शीर्ष अदालत बढ़ते पर्यवारण के स्तर पर अंकुश लगाने के लिए सरकार और प्रदूषण नियंत्रण संस्थाओं को लगातार दिशा-निर्देश देती रही है, लेकिन सोमवार को उसने अप्रत्याशित फैसला सुनाते हुए केंद्र सरकार को डीजल के दाम बढ़ाने पर विचार करने की सलाह दी है, ताकि बढ़ते दाम की वजह से डीजल का इस्तेमाल कम हो सके.
इसके अलावा सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार से 13 मेट्रो शहरों में अप्रैल 2019 से BS-6 इंधन उपलब्ध कराने पर विचार करने को कहा है. कोर्ट पहले ही दिल्ली में इस साल एक अप्रैल से BS-6 पेट्रोल-डीजल उपलब्ध कराने को कह चुका है.
 
ब्रेकिंग: सुप्रीम कोर्ट का आधार को लेकर एक और बड़ा फ़ैसला
 
आधार कार्ड को लिंक करने और इसकी सुरक्षा को लेकर लगातार बहस हो रही है. सुप्रीम कोर्ट में आधार अनिवार्य करने के ख‍िलाफ दर्ज कई याचिकाओं को लेकर सुनवाई जारी है.
अब चेहरे से होगी आधार की पहचान, 1 जुलाई से चलेगा कैंपेन
इस बहस और सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई के बीच आधार अथॉरिटी यूआईडीएआई ने बताया है कि वह जुलाई से एक नई सुविधा लाने वाली है. इस सुविधा के आने के बाद बायोमेट्र‍िक के अलावा आप अपने चेहरे से भी आधार को ऑथेंटिकेट कर सकेंगे.
अब चेहरे से होगी आधार की पहचान, 1 जुलाई से चलेगा कैंपेन
यूआईडीएआई ने कहा है कि वह जुलाई से बायोमेट्र‍िक के जरिये आधार ऑथेंटिकेट करने की सुविधा के साथ ‘फेस रिकगन‍िशन’ का फीचर भी ला रही है. 1 जुलाई से यह नई सुविधा लागू हो जाएगी.
 
आधार अथॉरिटी ने कहा है कि फिलहाल इस व्यवस्था में कई नई चीजें जोड़ी जा रही हैं. इन चीजों को जोड़ने के बाद 1 जुलाई से सभी लोग इसका इस्तेमाल कर सकेंगे.
 
बता दें कि यूआईडीएआई ने इस साल की शुरुआत में ही इस सुविधा को लाने की घोषणा कर दी थी. इस सुविधा के तहत आप फिंगरप्रिंट, आइरिस ही नहीं, बल्क‍ि अपने चेहरे का भी इस्तेमाल वेरीफ‍िकेशन के लिए कर सकेंगे.
 
दरअसल कई बार कुछ कई लोगों खासकर बुजुर्गों का फिंगरप्रिंट काम नहीं करता है. इस वजह से उनका आधार वेरीफ‍िकेशन फेल हो जाता है. इसको देखते हुए ही यूआईडीएआई ने यह सुविधा लाई है. अथॉरिटी के मुताबिक आधार कार्ड होल्डर की पहचान वेरीफाई करने के लिए 1 जुलाई के बाद फेस फोटो का इस्तेमाल भी किया जा सकेगा.
 
सबसे अच्छी बात यह है कि इस फीचर को एक्ट‍िव करने के लिए आपको एनरोलमेंट सेंटर नहीं जाना होगा. अथॉरिटी अपने डाटाबेस से आपका फेस फोटो लेकर एक्‍टिवेट करेगी. उसके बाद आप जब चाहें तब इस सुविधा का लाभ ले सकते हैं.
 
यूआईडीएआई का कहना है कि इस सुविधा की बदौलत न सिर्फ आम लोगों को बेहतर सुविधा मिलेगी, बल्क‍ि इससे आधार डाटा की सुरक्षा भी कई गुना बढ़ेगी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: