Thursday, December 2

पत्नी द्वारा पति के फोन चेक करने पर UAE कोर्ट ने पत्नी को दिया सजा। पत्नी वकील को भी देगी

अबूधाबी। यूएई में एक अदालत ने एक महिला को अपने पति के मोबाइल फोन चेक करने और फोन के मैसेज कॉपी करने के आरोप में जुर्माना ठोंका है। महिला के उपर अपने पति की बिना इजाजत के उसका फोन चेक करने और और उसके टेक्स मैसेजेस कॉपी करने का दोषी ठहराया है। जिसके लिए उसके उपर 3000 हजार दिरहम का जुर्माना ठोंक दिया है। रास अल खैमाह मिसडेमीनर कोर्ट ने उसे1000 हजार दिरहम वकालत की फीस और अन्य शुल्क देने के लिए भी कहा है।
 
खलीज टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, महिला को शक था कि उसके पति का किसी अन्य महिला के साथ अफेयर होने का शक था। जिसके चलते उसने अपने पति के मोबाइल को चुपके के चेक किया थी और उसके फोन के मैसेज कॉपी कर दूसरे फोन में भेजे थे। रास अल खैमाह मिसडेमीनर कोर्ट ने महिला को पति की इजाजत के बिना उसके फोन से मैसेज फोन कॉपी करने के लिए 3000 दिरहम (यूएई की करेंसी) का जुर्माना भरने का आदेश दिया है।
 

अदालत ने पब्लिक प्रॉसिक्यूटर को इस मामले की जांच के आदेश दिया है। ताकि पति और चैटिंग करने वाली महिला से पूछताछ की जा सके। कोर्ट के रिकॉर्ड के मुताबिक, यह मामला तब सामने आया जब पति ने अपनी पत्नी के खिलाफ निजता का उल्लंघन करने और उसकी सहमति के बिना मैसेज कॉपी करने का आरोपी करार देते हुए शिकायत दर्ज कराई थी। रास अल खैमाह पुलिस ने उस शख्स की पत्नी को समन किया था। मामला जब कोर्ट में पहुंचा तो महिला ने अपना गुनाह कबूल कर लिया लेकिन उसने अपने पति पर एक महिला के साथ अवैध संबंध बनाने का आरोप लगाया था। महिला ने कोर्ट से बताया कि वह एक महिला को लगातार मैसेज करता रहता है और उससे बातें करता है। इसी शक की वजह से उसने अपने पति का फोन चेक किया।

महिला ने पति के फोन में अश्लील मैसेज देख थे बचाव पक्ष के वकील ने बताया कि, पत्नी का शक तब बढ़ गया जब उसके पति को लगातार फोन कॉल और मैसेज आने लगे। इसी वजह से वह अपने पति को बिना बताए उसका फोन चेक करने के लिए मजबूर हो गई। महिला के वकील ने कहा, एक महिला ने उसके पति को अश्लील मैसेजेस और इमोजी भेजे थे, उसने लिखा था कि वह उसे प्यार करती है, यह सब देखकर वह सदमे और गुस्से में थी। वकील ने कहा कि कोर्ट में पांच सेशन के दौरान भी उसने अपनी शादीशुदा जिंदगी को लेकर कोई टिप्पणी नहीं की। जब पति ने किसी भी तरीके से समझौता करने से इनकार कर दिया तो उसे टेक्स्ट मैसेजेस कॉपी करने पड़े ताकि वह केस में उसे इस्तेमाल कर सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: