0

यूआईडीएआई (यूनिक आइडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया) ने सभी टेलिकॉम कंपनियों को अपने ग्राहकों को ऐसी सुविधा देने को कहा है जिससे उन्हें यह जानकारी मिल सके कि उनका सिम कार्ड आधार नंबर से लिंक्ड है या उन्हें करने की जरूरत है. यूआईडीएआई ने आधार का गलत इस्तेमाल रोकने के लिए ऐसा कदम उठाया है.
आपको बता दें कि यूआईडीएआई को इससे पहले यह जानकारी प्राप्त हुई थी कि कुछ रिटेलर्स, ऑपरेटर्स और टेलिकॉम कंपनियों के एजेंट आधार ऑथेन्टिकेशन फैसिलिटी का गलत उपयोग कर रहे हैं. ये नया सिम जारी करने और मोबाइल नंबर को वेरिफाई करने के लिए आधार को गलत रूप से इस्तेमाल में ला रहे हैं.
एजेंट्स के किसी दूसरे के आधार नंबर पर दूसरे व्यक्ति को सिम कार्ड इश्यू करने के मामले प्रकाश में आ चुके हैं. यूआईडीएआई ने टेलिकॉम कंपनियों को सुनिश्चित करने के लिए कहा है कि उनके रिटेलर्स या एजेंट किसी तरह की धोखाधड़ी की गतिविधियों में शामिल न हों.
यूआईडीएआई के सीईओ ने मामले को लेकर कहा, कि उपभोक्ता को यह जानने का अधिकार है कि उनका मोबाइल किस आधार नंबर से रजिस्टर्ड है. इसलिए हमने सभी टेलिकॉम कंपनियों को 15 मार्च तक ऐसी सुविधा ग्राहकों को देने को कहा है. इस सुविधा के बाद उपभोक्ता एसएमएस के माध्‍यम से यह जान सकेंगे कि उनका मोबाइल नंबर आधार कार्ड से लिंक्ड है या नहीं…इस तरह की सुविधा मिलने से ग्राहकों को इस बात की भी जानकारी मिलेगी कि उनके आधार नंबर पर कितने मोबाइल नंबर लिंक्ड हैं…
टेलिकॉम कंपनियों को यह फैसिलिटी सब्सक्राइबर्स को कस्टमर केयर नंबर, ईमेल, वेब पोर्टल और एसएमएस के माध्‍यम से देने को कहा गया है. टेलिकॉम कंपनियों से कहा गया है कि यदि कोई नंबर गलत तरीके से किसी दूसरे के आधार पर लिंक्ड है तो वे इस मामले में सख्‍ती का रूप अख्‍तियार करें और नंबर को लॉक कर दें


Like it? Share with your friends!

0
Digital Desk

0 Comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: