जब जज पिता ने बेटी के प्यार पर लगाया पहरा, हाईकोर्ट ने संज्ञान लेती हुए दिया ये निर्दश

1 min


0

अक्सर एक पिता अपनी बेटी की अच्छी जिंदगी की खातिर उसे प्यार जैसे चीजो से दूर रहने को कहता है क्योंकि आज के समय मे प्यार में धोखाधड़ी भी अधिक है. हालांकि हर बार यह बात बात सच साबित नही होती है. ऐसा ही एक और मामला सामने आया है. बता दें कि खगड़िया जिले के सेशन कोर्ट के जज की बेटी को सुप्रीम कोर्ट के वकील से प्यार हो गया है, पर यह बात उन्हें खटक गई और उन्होंने अपनी बेटी घर में को घर में कैद कर दिया. यह भी कहा जा रहा है कि जज पिता ने अपनी बेटी के साथ मारपीट भी की. यह मामला जब पटना हाईकोर्ट पहुँचा तो इस मामले में संज्ञान लिया गया.

एक लीगल न्यूज वेबसाइट में शनिवार को प्रकाशित इस खबर के बाद पटना हाईकोर्ट ने संज्ञान लिया है. रिपोर्ट के मुताबिक जज की बेटी 24 वर्षीय लॉ ग्रैजुएट, यशस्विनी सुप्रीम कोर्ट के एक वकील के साथ रिलेशनशिप में हैं. आरोप है कि इससे नाराज जज सुभाष चंद्र चौरसिया ने उनके साथ मारपीट कर घर पर ही उन्‍हें बंधक बना लिया है.

इस मामले में सोमवार को पटना हाईकोर्ट में सुनवाई हुई जिसमें चीफ जस्टिस राजेंद्र मेनन की खंडपीठ ने मामले पर नाराजगी जताते हुए एसएसपी पटना को टीम गठित करने का आदेश दिया है. टीम में दो महिला अधिकारियों को भी शामिल करने का आदेश दिया गया है. मामले पर कल फिर सुनवाई की जाएगी. इसके साथ ही कोर्ट ने खगड़िया जिला जज की बेटी को पेश मंगलवार को 12.15 बजे चीफ जस्टिस राजेंद्र मेनन के चेंबर में पेश करने का आदेश दिया है. घटना पर पटना हाई कोर्ट ने नाराजगी भी जताई है.

पटना स्थित चाणक्य नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी से कानून की डिग्री हासिल करनेवाली 24 वर्षीया यशस्विनी वर्ष 2012 में पहली बार साकेत कोर्ट कॉम्प्लेक्स में इंटर्नशिप के दौरान सिद्धार्थ बंसल से मिली थीं। वे सुप्रीम कोर्ट में वकील हैं। इसके बाद यशस्विनी छह मई को दिल्ली जुडिशियल सर्विस की परीक्षा देने के लिए अपनी मां के साथ गयी थी, वहां सिद्धार्थ भी यशस्विनी से मिलने आया। दोनों होटल के बाहर एक-दूसरे से मिले. इस मामले को पुष्टि डीजीपी द्वारा भी की गयी है. उन्होंने भी इस मामले को गंभीरता से लिया है.


Like it? Share with your friends!

0
Digital Desk

0 Comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *