ख़ुशख़बरी: दिल्ली का पहला इलाक़ा हुआ GREEN ZONE, ख़त्म हुआ संक्रमण का दौर, लगातार 28 दिन में एक भी केस नही

1 min


0

28 दिन तक कोई नया कोरोना संक्रमित मरीज नहीं मिलने के बाद दिल्ली में पहली बार कोरोना हॉटस्पॉट अब ग्रीन जोन घोषित किया गया है। शुक्रवार को पूर्वी दिल्ली जिला प्रशासन ने वसुंधरा एन्क्लेव स्थित मनसारा अपार्टमेंट से कंटेनमेंट जोन हटा लिया है। मनसारा अपार्टमेंट रेड जोन से बाहर होने वाला दिल्ली का पहला इलाका है। कोरोना का मरीज सामने आने पर प्रशासन ने अपार्टमेंट को सील कर दिया था।

 

 

 

28 दिन तक यहां दूसरा कोई कोरोना मरीज सामने नहीं आया, जिसके चलते अपार्टमेंट रेड जोन से बाहर आ गया। वहीं मौजपुर के विजय पार्क की गली नंबर-18 स्थित मकान नंबर 701/23 से 500/36 बी को कंटेनमेंट जोन घोषित किया गया है। बीते 26 मार्च को मनसारा अपार्टमेंट निवासी एक मरीज में कोरोना वायरस की पुष्टि होने के चलते यहां कंटेनमेंट जोन बना दिया गया था। अपार्टमेंट को पूरी तरह से सील कर दिया था। आवश्यक चीजों को छोड़कर अन्य किसी भी तरह की आवाजाही बंद थी। पुलिस ने बैरीकेड लगाकर अपार्टमेंट को बंद कर दिया था। स्थानीय लोगों का सहयोग भी प्रशासन को काफी मिला। हाल ही में कोरोना संक्रमित मरीज को आरएमएल अस्पताल से छुट्टी मिल चुकी है। 26 मार्च के बाद से अपार्टमेंट में कोई नया मरीज नहीं मिला है, जबकि कई लोगों की जांच हो चुकी है।

 

 

स्वास्थ्य विभाग के अनुसार, कंटेनमेंट जोन को ग्रीन तभी घोषित किया जा सकता है जब 28 दिन में न तो कोई नया केस सामने आए और न ही एक भी संक्रमित या संदिग्ध मरीज अस्पताल में भर्ती हो। हालांकि ग्रीन जोन में घोषित होने के बाद भी जिला प्रशासन की टीमें संबंधित इलाके में पूरी तरह से चौकन्ना रहेंगी। आसपास के लोगों को भी इसमें साथ लेंगी, ताकि भविष्य में कोरोना संक्रमण की इन इलाकों में कोई आशंका न रह सके।

 

 

90 से ज्यादा कंटेनमेंट जोन
कोरोना वायरस को लेकर दिल्ली में 90 से ज्यादा कंटेनमेंट जोन बनाए जा चुके हैं। दिल्ली के लगभग सभी जिलों में कंटेनमेंट जोन बन चुके हैं। जिस भी इलाके में संक्रमित मरीज मिलता है प्रशासन उस इलाके को सील कर कंटेनमेंट जोन में तब्दील कर देता है और वहां स्क्रीनिंग शुरू करता है। कंटेनमेंट जोन घोषित होने के 14 दिन के भीतर अगर कोई नया मरीज नहीं मिलता है तो उसे ऑरेंज जोन में तब्दील कर दिया जाता है। यह अवधि बढ़कर 28 दिन होती है, तब उसे ग्रीन जोन घोषित किया जाता है।

 


Like it? Share with your friends!

0
akhandindia

0 Comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: