कुवैत में बसे भारतीयों को भारत सरकार ने दिए नए निर्देश, कई प्रवासि हुए हैं गिरफ़्तार

1 min


0

भारत ने कुवैत में बसे भारतीयों को स्थानीय रेजीडेन्सी और वीजा संबंधित कानून का पालन करने को कहा है । कुवैत में अपनी वीजा अवधि से अधिक समय तक ठहरने और अन्य नियमों का उल्लंघन करने के चलते कई प्रवासियों की गिरफ्तारी के मद्देनजर ये निर्देश दिए गए हैं । कुवैत स्थित भारतीय दूतावास ने एक बयान में कहा, ‘‘ कुवैत में रेजीडेन्सी और वीजा संबंधित कानून का उल्लंघन करने के चलते कई प्रवासियों को गिरफ्तार किया गया है ।
इसके अलावा एेसी खबरें भी हैं कि घरेलू सहायक वर्ग का वीजा रखने वाले बहुत से प्रवासी वीजा और रेजीडेंसी कानून का उल्लंघन कर निर्माण और निजी क्षेत्र में काम कर रहे हैं । ’’ उन्होंने कहा, ‘‘ कुवैत में काम करने की अनुमति वाला वीजा रखने वाले लोगों को वहां वैध तौर पर रहना चाहिए और वहां के नियमों एवं कानूनों का उल्लंघन नहीं करना चाहिए ।’’ कुवैत में भारतीय दूतावास ने भारतीयों को अपनी सिविल आईडी या पासपोर्ट अपने साथ रखने का निर्देश भी दिया है ताकि सुरक्षा जांच के दौरान वे उसे सुरक्षा अधिकारियों को दिखा सकेें।
 

इंटर्नैशनल ख़बरों में आज की प्रमुख ख़बर.

 
अमरीकी राष्ट्रपति और उत्तर कोरिया के किंग  किम जोंग-उन के बीच 12 जून को शिखर वार्ता सिंगापुर के सेंटोसा द्वीप पर दि कैपेला होटल में होगी।  मुलाकात भारतीय समयानुसार सुबह 6.30 बजे होगी। माना जा रहा है कि किम जोंग उन सोवियत काल के इल्युशिन 62M पुराने खटारा हवाई जहाज से सिंगापुर पहुंचेंगे। वह पिछले महीने चीन भी वे इसी विमान से गए थे। इस विमान का अब दुनिया में बहुत कम इस्तेमाल होता  है।
 
ज्यादातर देशों में इल्युशिन 62M हवाई जहाज का इस्तेमाल अब बंद कर दिया गया है।1960 के दशक में इसे पहली बार बनाया गया था और 1990 के दशक के मध्य तक इसका निर्माण होता रहा।  1963 में पहली बार उड़ान भरने पर इसे सबसे बड़ा जेट कहा गया था। माना जाता है कि नॉर्थ कोरिया के शासक ट्रेन से सफर करना अधिक पसंद करते हैं।कुछ महीने पहले चीन के पहले दौरे पर किम जोंग ने अपनी विशेष ट्रेन से ही यात्रा की थी, लेकिन सिंगापुर ट्रेन से जाना संभव नहीं है। यह हवाई जहाज 50 मीटर लंबा है और 200 यात्रियों को ले जा सकता है. लेकिन इसमें संचार के आधुनिक यंत्र नहीं हैं। हालांकि, किम जोंग के प्लेन को रिइनोवेट किया गया है।एक बार में यह 10 हजार किमी तक उड़ान भर सकता है.
 


Like it? Share with your friends!

0
user

0 Comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *